प्रेमिका की बेवफाई ने प्रेमी को बनाया कातिल, पहले मां फिर प्रेमिका की कर दी हत्या

Sarweshwari Mishra | Updated: 09 Oct 2019, 02:19:33 PM (IST) Azamgarh, Azamgarh, Uttar Pradesh, India

पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर बरामद किया मां बेटी की मोबाइल

आजमगढ़. वीडियो कॉलिंग से शुरू हुई प्रेम कहानी का अंजाम इतना भयानक होगा किसी ने सोचा नहीं था। प्रेमिका की बेवफाई और उनकी मां की धमकी ने प्रेमी को कातिल बना दिया। नाराज प्रेमी ने एक ही रात में मां बेटी को मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद जब मामले से पर्दा उठाया तो सनसनी फैल गयी। आरोपी प्रेमी को मां-बेटी की हत्या के आरोप में जेल भेज दिया गया।


घटना यूपी के आजमगढ़ जिले के मेहनाजपुर थाना क्षेत्र के ढ़ाखा गांव की है। इस गांव का रहने वाला नेशान रोजी रोटी के लिए खाड़ी देश रहता है। उसकी पत्नी नूरीन उम्र 42 अपनी 20 वर्षीय पुत्री गजाला व चार अन्य बच्चों के साथ घर पर रहती थी।


एक साल पहले नेशान ने गांव के ही शुभम विश्वकर्मा पुत्र सुरेंद्र विश्वकर्मा को फोन किया और कहा कि मेरे घर जाकर पत्नी से वीडियो कालिंग पर बात करा दो। इसके बाद शुभम उसके घर आने जाने लगा और गजाला से उसे प्रेम हो गया। महीनों तक दोनों गांव के बाहर नहर की पुलिया पर मिलने लगे। कुछ दिन बाद लड़की किसी और से बात करने लगी तो शुभम ने विरोध किया। इसके बाद गजाला ने उससे मिलने से मना कर दिया। इसी दौरान यह बात उसकी मां को भी यह बात पता चल गयी। इसके बाद नूरीन ने बेटी पर पहरा लगया दिया। रात में वह पुत्री को ताले में बंद खुद दजवाजे पर सोती थी।
शनिवार की रात शुभम गजाला से मिलने के लिए ही उसके घर गया था लेकिन वह ताले में बंद थी और उसकी मां दरवाजे पर सोई थी।

शुभम ने जब नूरीन से गजाला को मिलाने की जिद किया तो उसने गांव वालों को बताने तथा अपने भाइयों से कहकर पिटवाने की धमकी दे दी। उसने शोर मचाने का प्रयास किया तो शिवम ने नूरीन का मुंह दबाकर चुप कराने का प्रयास किया जिससे वह बेहोश हो गयी। इसके बाद शुभम ने नूरीन को कंधे पर उठाया और पास के धान के खेत में ले जाकर गला दबाकर हत्या कर दी। फिर वह उसके घर लौटा और नूरीन की चारपाई पर तकिये के नीचे रखी चाभी निकालकर ताला खोल गजाला को बाहर निकाला। आरोपी के मुताबिक जब उसने पुछा मेरी मम्मी कहा है तो शिवम ने कहा कि बगल के कमरे में सो रही है। इसके बाद वह उसे 500 मीटर की दूरी पर स्थित गाजीपुर जनपद के शादात थाना क्षेत्र के मल्हौरा स्कूल के पास ले गया। उसको वहीं छोड़ वह अपने दोस्त टोनी उर्फ अमीत यादव व आशीष यादव ग्राम अताउल्लाहपुर के घर गया और उनके साथ वापस लौट गजाला से उनका परिचय कराया। उसी समय गजाला ने फिर अपनी मां के बारे में पूछा।

जब शुभम ने बताया कि गलती से उनकी हत्या हो गयी तो उसके दोनों दोस्त दौड़कर भाग गए। बात खुले ने इस डर से उसने गजाला को पानी में गिराकर मार डाला। इस मामले में गजाला की नानी अक्तरून पत्नी स्व. शहागन निवासी ग्राम भोगी पट्टी थाना केराकत जिला जौनपुर ने अज्ञात के खिलाफ मेहनाजपुर थाने में हत्या की रिपोर्ट दर्ज करायी थी। विवेचना के दौरान शुभम का नाम प्रकाश में आने पर पुलिस ने बहलोलपुर तिराहे के पास से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

BY- Ranvijay Singh

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned