आंदोलन के नाम पर बसपा और भीम सेना का हिंसात्मक प्रदर्शन, कई बसों को किया आग के हवाले

Jyoti Mini

Publish: Apr, 02 2018 05:07:49 PM (IST)

Azamgarh, Uttar Pradesh, India

आंदोलन के नाम पर बसपा और भीम सेना का हिंसात्मक प्रदर्शन, कई बसों को किया आग के हवाले

1/2

आंदोलन के नाम पर बसपा और भीम सेना का हिंसात्मक प्रदर्शन, कई बसों को किया आग के हवाले click on next side for more pic

आजमगढ़. एससी/एसटी व आरक्षण के मुद्दे को लेकर भारत बंद के दौरान जन समर्थन न मिलने से नाराज बसपा और भीम सेना के कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह उग्र प्रदर्शन किया है। आजमगढ़ के सगड़ी में तो प्रदर्शन हिंसा का रूप ले लिया। आरोप है कि, अराजकतत्वों ने कई वाहनों में तोड़फोड़ की तो सरकारी बसों को आग के हवाले कर दिया। उपद्रवियों ने तहसील परिसर में जमकर फायरिंग की और पुलिस वाहन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। उपद्रव को कंट्रोल करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। स्थित नियंत्रण में है, लेकिन पुलिस के साथ ही पीएसी ने मोर्चा संभाल लिया है। एसपी सहित आलाधिकारी मौके पर डटे हुए हैं।

बता दें कि, भारत बंद के अह्वान के बाद भी शहर से लेकर गांव तक बाजारे खुली रही। बंद का बिल्कुल असर नहीं रहा। दोपहर 12 बजे के बाद भीम सेना और बसपा के लोगों ने जगह जगह जलूस निकाला। शहर में कलेक्ट्रेट से लेकर बवाली मोड़ तक जुलूस निकाला गया। इस दौरान यूपी और केंद्र सरकार के नेताओं को भद्दी गालियां भी दी गयीं। प्रदर्शनकारियों ने बवाली मोड़ पर हाइवे को जाम कर दिया। मौके की नजाकत देख शहर कोलवाल ने पीएसी बुला ली। किसी तहर जाम समाप्त कराया गया। इसके बाद लोगों ने पूरे शहर में घूम कर प्रदर्शन किया।

इसी बीच अपराह्न करीब एक बजे प्रदर्शनकारियों ने सगड़ी तहसील पर उपद्रव शुरू कर दिया। प्रदर्शनकारियों ने तीन सरकारी बसों को आग के हवाले कर दिया। वहीं आरोप है कि, जनरथ सहित करीब आधा दर्जन बसों में जमकर तोड़फोड़ की गयी। यहीं नहीं प्रदर्शन कर रहे लोगों ने सगड़ी तहसील में घुसकर जमकर फायरिंग की और प्रशासन के वाहन को भी तोड़ दिया।

हालत यह रही कि, वाराणसी गोरखपुर हाइवे घंटों तक जाम रहा। चारों तरफ अफरातफरी का माहौल रहा। हालात को काबू करने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा। इसके बाद भी उपद्रवी डटे रहे और पुलिस पर पथराव करते रहे। करीब दो बजे पीएसी ने मोर्चा संभाला तो उपद्रवी भाग खड़े हुए। वहीं अजमतगढ़ में प्रदर्शनकारियों ने जबरदस्ती दुकान बंद कराने का प्रयास कि, लोगों ने विरोध किया तो मारपीट शुरू कर दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने उपद्रवियों को खदेड़कर मामले को शांत किया । डीएम एसपी सहित जिले के आलाधिकारी सगड़ी में डटे हुए हैं।

by रणविजय सिंह

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned