एसडीएम की दबंगई, कारोबारी को दुकान से घसीट सरेआम पीटा, विरोध में सड़क पर व्यापारी

-शहर कोतवाली में जमा है हजारों कारोबारी, एसडीएम व सीओ के खिलाफ कार्रवाई की मांग

-एसडीम और सीओ पर आए दिन लगता है दबंगई का आरोप, कांग्रेस सहित कई राजनीतिक दल भी कारोबारियों के साथ हुए खड़े

-एसडीएम के बचाव में उतरे पुलिस के अधिकारी कारोबारी पर लगाया अभद्रता का आरोप

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. लगातार दबंगई के जरिए जनता पर धौंस जमाने का प्रयास कर रहे एसडीएम सदर गौरव कुमार ने मंगलवार को हद पार कर दी। पुलिस बल के साथ दुकान पर कारोना गाइडलाइन के पालन की जांच करने पहुंचे एसडीएम ने एक कारोबारी को सड़क पर घसीटकर मारा। इसके जानकारी होने पर शहर के कारोबारी आक्रोशित हो उठे और हजारों की संख्या में शहर कोतवाली को घेर लिया। कोतवाली में कारोबारी एसडीएम के खिलाफ नारेबाजी कर रहे है। पुलिस अधिकारी एसडीएम के बचाव में जुटे है लेकिन कारोबारी कार्रवाई की जिद पर अड़े हुए है। अभी हाल में एसडीएम ने बिना किसी नोटिस के दुकानदारों के छप्पर आदि भी तोड़वा दिया था।

कारोबारियों का आरोप है कि सराफा कारोबारी आशीष गोयल अपनी दुकान पर अकेले बैठे थे। उसी दौरान एसडीएम सदर गौरव कुमार अपनी टीम के साथ दुकान पर आए और मास्क आदि के बारे में जानकारी ली। बातचीत के दौरान ही एसडीएम आग बबूला हो गए और कारोबारी को दुकान से खींचकर मारने पीटने लगे। यही नहीं उसे सड़क पर लाकर भी पीटा गया जबकि कारोबारी की कोई गलती नहीं थी। कारोबारी को पिटता देख जब पास पड़ोस के लोग मौके पर पहुंचे तो पुलिस और एसडीएम ने उनके साथ भी अभद्र व्यवहार किया।

एसडीएम द्वारा आए दिन किए जा रहे उत्पीड़न से कारोबारी लामबंद हो गए और नारेबाजी शुरू कर दिये। कारोबारियों का गुस्सा देख एसडीएम व पुलिस के जवान वहां से खिसक लिए। इसके बाद हजारों की संख्या में कारोबारी कोतवाली को घेर लिए। जानकारी होने के बाद एसपी सिटी सहित कई थाने की फोर्स मौके पहुंच गयी।

कारोबारी एसडीएम के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर कोतवाली में धरने पर बैठे है। वे एसडीएम व सीओ के खिलाफ लगातार नारेबाजी कर रहे है। पूरे शहर में दुकाने पूरी तरह बंद हो गयी हैं। कारोबारियों के समर्थन में कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रवीण सिंह भी धरने पर बैठ गए। पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह भी कोतवाली पहुंच गए हैं और कारोबारियों को समझाने बुझाने की कोशिश कर रहे है लेकिन कारोबारी कार्रवाई की मांग पर अड़े हुए हैं।

BY Ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned