अधिकारियों के मायाजाल में उलझे योगी, दौरे के बाद ठगा महसूस कर रहे लोग

अधिकारियों के मायाजाल में उलझे योगी, दौरे के बाद ठगा महसूस कर रहे लोग
Cm Yogi adityanath

आम आदमी के अपेक्षा के विपरीत वहीं देखा जो अधिकारियों ने दिखाया

आजमगढ़. डिप्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य द्वारा गत दिनों की गई विकास कार्यो की समीक्षा से निराश जिले के लोगों को सीएम योगी से काफी उम्‍मीद थी। ऐसे में यह माना जा रहा था कि सीएम समीक्षा में जहां योजनाओं को आखिरी व्‍यक्ति तक पहुंचाने के लिए खास हिदायत देंगे, मगर लोगों को सीएम के दौरे से निराशा ही हाथ लगी। बता दें कि केंद्र की योजनाओं के संचालन में आजमगढ़ मंडल फिसड्डी है, ऐसे में लोगों को इसको लेकर भी सीएम से काफी आस थी।


खासतौर पर जिला अस्‍पताल के निरीक्षण को लेकर लोग आश्‍वस्‍त थे। कारण कि यहां साइकिल स्‍टैंड के नाम पर हो रही अवैध वसूली और मरीजों के उत्‍पीड़न को लेकर सत्‍ता में आने के बाद भी भाजपा युवा मोर्चा के अध्‍यक्ष सूरज प्रकाश श्रीवास्‍तव आंदोलन करते रहे थे लेकिन योगी करीब पांच घंटे जिले में रहे और इस दौरान अधिकारियों के मायाजाल में ही उलझे दिखे। उन्‍होंने वहीं देखा जो उन्‍होंने दिखाया और वही सुना जो उन्‍होंने सुनाना चाहा। यहां त‍क कि सीएम की इस यात्रा में मीडिया को पूरी तरह उनसे दूर रखा गया और जाते जाते सीएम ने सिर्फ इतना कहा कि अगली बार ख्‍याल रखेंगे। 



यह भी पढ़ें: पीएम मोदी के गढ़ में विकास योजनाओं का सच जानेंगे सीएम योगी आदित्यनाथ


 
सीएम योगी आदित्‍यनाथ से मंडल के लोगों को काफी अपेक्षा थी। वे बलिया और मऊ भले ही न गए हो लेकिन वहां के लोग भी सीएम के आजमगढ़ दौरे पर नजर गड़ाये हुए थे। कारण कि सीएम तीनों जिलों की समीक्षा करने के लिए आये थे। अधिकारियों ने पहले ही तैयारी कर रखी थी कि सीएम को कब कहां ले जाना है लेकिन जब सीएम सीधे पदाधिकारियों के साथ बैठक के लिए नेहरू हॉल पहुंचे तो यह चर्चा शुरू हुई पदाधिकारी जिस समस्‍या से अवगत करायेगे योगी उस जगह के निरीक्षण को प्राथमिकता देंगे।

लेकिन जब बैठक समाप्‍त हुई तो सीएम पूरी तरह अधिकारियों के मायाजाल में उलझे दिखे। उन्‍होंने सबकुछ उन्‍ही के चश्‍मे से देखा। सीएम जिला अस्‍पताल नही गए जहां की व्‍यवस्‍था को लेकर लगातार सवाल उठते रहे हैं और उनही के पार्टी का जिलाध्‍यक्ष खुद व्‍यवस्‍था को सुधारने के लिए संघर्ष कर रहा है। वे जिला महिला अस्‍पताल गये जहां पहले से ही व्‍यवस्‍था काफी हदतक ठीक ठाक है।

इसके अलावा सीएम ने दूसरे जिलों की तरह यहां धान क्रय के्द्र, प्राथमिक विद्यालय और किसी सीएचसी और पीएचसी का भी निरीक्षण नहीं किया। सीएम करीब सवा दो घंटे तक पुलिस लाइन में समीक्षा बैठक किये। समीक्षा में क्‍या हुआ, सीएम ने क्‍या निर्देश दिये इसकी भी जानकारी किसी को नहीं हो सकी। कारण कि बैठक से निकलने के बाद सीएम सीधे हेलीपैड की तरफ बढ़ने लगे। मीडिया ने उन्‍हें रोका भी और मीडिया से दूरी के बारे में भी पूछा लेकिन ये अगली बार देंखेगे की बात कहकर आगे बढ़ गए।

 
मीडिया के पूछने पर उन्‍होंने कहा कि देखिये यह बीजेपी का नहीं प्रशासन का कार्यक्रम था। आगे से हम देखेगे कि किसी को परेशानी न हो। कानून व्‍यवस्‍था की समीक्षा के बारे में पूछने पर वे जवाब देने के बजाय आगे बढ़ गये।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned