अपने दलित नेता की गिरफ्तारी के खिलाफ सड़क पर उतरे कांग्रेसी, योगी सरकार पर लगाया गंभीर आरोप

कांग्रेस पार्टी अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेश अध्यक्ष आलोक प्रसाद को 13 अक्टूबर रात पुलिस ने किया था गिरफ्तार

डीएम को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंप तत्काल रिहाई की मांग

आजमगढ़. उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेश अध्यक्ष आलोक प्रसाद की गिरफ्तारी से नाराज कांग्रेसियों ने प्रदेश महासचिव सन्तोष कटाई के नेतृत्व में शुक्रवार को जिला मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया। यूपी की योगी सरकार पर हिटलरशाही का आरोप लगाते हुए अपर जिलाधिकारी प्रशासन को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। प्रदेश अध्यक्ष की रिहाई न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी।

अनुसूचित प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव संतोष कटाई ने कहा कि उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेश अध्यक्ष आलोक प्रसाद को 13 अक्टूबर की रात दो बजे लखनऊ के गोमती नगर से असंवैधानिक तरीके से गिरफ्तार कर लिया गया, जो निंदनीय है। इतना हीं नहीं अनुसूचित विभाग के पदाधिकारियों ने जब पुलिस से गिरफ्तारी का कारण पूछा तो उनके साथ बदसलूकी की गई।

उन्होंने कहा कि यूपी की योगी सरकार दलित वर्ग का उत्थान नहीं चाहती है। इस सरकार में दलितों का खुलेआम उत्पीड़न हो रहा है। हमारे प्रदेश अध्यक्ष दलितों के हक की आवाज उठा रहे थे। उनके उत्थान के लिए सड़क पर उतरकर सरकार की गलत कार्यशैली को उजागर करने का काम कर रहे थे। इससे खार खाई सरकार ने उन्हें गिरफ्तार करवा लिया।

सरकार दलितों के उत्थान की बात करने वालों को जान बूझकर निशाना बना रही है लेकिन वह हमारी आवाज को दबा नहीं सकती है। हम सरकार का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं करेंगे।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति को मामले को संज्ञान में लेना चाहिए और प्रदेश अध्यक्ष आलोक प्रसाद की बिना शर्त रिहाई करानी चाहिए। सत्ता के नशे में चूर योगी सरकार द्वारा फर्जी मुकदमे में फंसाकर उन्हें प्रताड़ित किये जाने की योजना तैयार की जा रही है। शीध्र ही उनकी रिहाई नहीं हुई तो कांग्रेसजन आंदोलन करने को बाध्य होेंगे। जिसकी पूरी जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की होगी।

इस दौरान तेज बहादुर यादव, मुन्नू यादव, बेलाल अहमद, राजबली राम, सीमा भारती, दिनेश यादव, ओमकार पांडे, अब्दुल रहमान, अशोक कुमार, शीला भारती, कल्पनाथ राम, दिनेश कनौजिया, विमल भारती, रोहित कुमार, वीरेंद्र कुमार, जनार्दन कुमार, बृजेश कुमार, बृजेश पांडेय आदि मौजूद थे।

by ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned