किसानों की सबसे बड़ी दुश्मन है केंद्र की भाजपा सरकार: सन्तोष कटाई

कांग्रेस नेता ने किसान आंदोलन का किया समर्थन

कृषि विधेयक को बताया किसान विरोधी वापस लेने की मांग

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. कृषि विधेयक के खिलाफ किसानों के आंदोलन के बीच कांग्रेस सरकार पर हमलावर हो गयी है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य व उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी अनुसूचित विभाग के प्रदेश के उपाध्यक्ष सन्तोष कटाई ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। केंद्र सरकार को अब तक की सबसे बड़ी किसान विरोधी सरकार करार दिया।

लोकसभा में पारित तीन विधेयकों पर कड़ी नाराजगी जताते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि यह सरकार एक तरफ तो किसानों की आय दोगुनी करने का बात करती है और दूसरी तरफ ऐसा काम किया है कि किसान पूरी तरह बर्बाद हो जाए। जब आय का साधन ही नहीं रहेगा तो आमदनी दूनी होगी कैसे।

सरकार के न्यूनतम समर्थन मूल्य और सरकारी खरीद जारी करने की बात को भी उन्होंने कोरी लफ्फाजी करार दिया और कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि किसी फसल बीमा योजना में यह प्रावधान है कि जैसे ही फसल बर्बादी की सूचना मिलेगी तो उसकी 50 प्रतिशत बीमा राशि 48 घंटे के भीतर किसान के खाते में पहुंच जानी चाहिए और बाकी राशि 1 सप्ताह में पहुंच जाना चाहिए। हमारे यहां 2019 में खरीफ की फसल को नुकसान हुआ था उसका मुआवजा आज तक नहीं मिला। रबी की फसल जो किसानों ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) के आधार पर सरकारी क्रय केंद्रों पर वर्ष 2018-19 और 2020 में बेचा था उसका शत प्रतिशत भुगतान अभी तक नहीं मिला।

ऐसे में किसान सरकार की इस बात पर कैसे विश्वास करें कि इन विधायकों की वजह से किसान कहीं भी जाकर जब अपनी फसल बेचेगा तो तीन-चार दिवस में उसकी पूरी कीमत व्यवसाई उसे दे देगा। सरकार ने किसानों से किया कोई वादा तो पूरा किया हो तो किसान भी उसकी इस नई बात पर भरोसा कर पाता लेकिन सरकार ने सिर्फ किसानों से झूठ बोला है।

सन्तोष कटाई ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों की आवाज को सुनने की बजाय किसानों पर जिस प्रकार से लाठियां बरसवा रही है और पानी की बौछार करा रही है आने वाले समय में किसान इसका जवाब देगा। कांग्रेस किसानों की हर लड़ाई में उनके साथ खड़ी है।

BY Ran vijay singh

Congress leader
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned