डीजल-पेट्रोल मूल्य वृद्धि को लेकर जमकर किया प्रदर्शन, ट्रैक्टर व बाइक रिक्शा पर लाद सड़क पर उतरे कांग्रेसी

- सरकार पर लगाया आम आदमी की जेब पर डाका डालने का आरोप
- पेट्रोलियम का मूल्य कम न होने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी
- पेट्रोलियम के मुद्दे पर बामपंथियों ने भी सरकार को घेरा

By: Neeraj Patel

Updated: 29 Jun 2020, 08:30 PM IST

आजमगढ़. डीजल पेट्रोल के मूल्य में लगातार हो रही वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस ने अनोखे अंदाज में प्रदर्शन किया। इस दौरान कांग्रेसी बाइक रिक्शे पर लादकर और ट्रैक्टर लेकर जुलूस में शामिल हुए। कांग्रेसियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए मूल्य कम न होने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी दी। केंद्र सरकार पर आम आदमी को लूटने और पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया। वहीं बामदलों के लोगों ने भी जिला मुख्यालय व लालगंज में प्रदर्शन कर विरोध जताया।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रवीण कुमार सिंह ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में करोड़ों लोग बेरोजगार हो गए हैं। किसान, मध्यम वर्ग काफी प्रभावित हुआ है। इस समय जोताई-बोवाई का काम चल रहा है। हर किसान को डीजल की जरूरत है। कोरोना संक्रमण काल में हुए लाकडाउन के कारण पहले ही किसानों की कमर टूट चुकी है अब सरकार उन्हें लूट रही है।उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार में पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 9.20 रुपये तथा डीजल पर 3.40 रुपया था।

वर्तमान सरकार ने पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 23.38 रुपये तथा डीजल पर 28.27 रुपया बढ़ा दिया गया है। डीजल पर लगभग नौ गुना उत्पाद शुल्क बढ़ाया गया है। पेट्रोल व डीजल के मूल्य वृद्धि पर तत्काल अंकुश लगना चाहिए। किसानों को सस्ते दर पर डीजल उपलब्ध कराया जाय तथा इसे जीएसटी के दायरे में लाया जाय। यदि सरकार तत्काल डीजल व पेट्रोल की मूल्य वृद्धि को वापस नहीं लेती है तो कांग्रेसी बड़ा आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे।

मौके पर ये लोग रहे मौजूद

इस मौके पर आशुतोष द्विवेदी, तेज बहादुर यादव, पुनवासी प्रजापति, सुरेंद्र सिंह, मुन्नू यादव, मोहम्मद, पंकज मोहन सोनकर, अजीत राय, शीला भारती, नजम शमीम, जगदंबिका चतुर्वेदी, राजबली राम, रविकांत त्रिपाठी, रविशंकर पांडे, अंशुमाली राय, अबुजैद, अमर बहादुर यादव, आशुतोष आदि मौजूद रहे। इसी क्रम में वामपंथी दलों ने जिला मुख्यालय स्थित कलक्ट्रेट व लालगंज तहसील पर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में सीपीआई, सीपीएम व भाकपा माले के कार्यकर्ता शामिल हुए। वामपंथी नेताओं ने कहाकि केन्द्र सरकार ने पूरी तरह कारपोरेट के समक्ष समर्पण कर दिया है। तेल कंपनियों को मूल्य तय करने का अधिकार देकर मोदी सरकार ने किसानों व आमजन को उनके रहमो करम पर छोड़ दिया है। इस मौके पर जयप्रकाश नारायण, रामायन राम, अनिल राय, अशोक राय, खरपत्तू आदि मौजूद रहे।

Congress Corona virus
Show More
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned