मुलायम सिंह यादव पर अभद्र टिप्पणी से सपाई नाराज, एसपी से की कार्रवाई की मांग

- फेसबुक पर एक युवक ने किया है पूर्व सीएम के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग
- आरएसएस की प्रायोजित भाषा के प्रयोग का लगाया आरोप

By: Abhishek Gupta

Published: 14 May 2020, 09:52 PM IST

आजमगढ़. अध्योया में कारसेवकों पर हुई फायरिंग को लेकर एक युवक द्वारा पूर्व सीएम व समाजवादी पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव पर फेसबुक पर अभद्र पोस्ट करने से सपाई आक्रोशित हैं। उन्होंने एसपी से मुलाकात कर युवक के खिलाफ रिपोर्ट पंजीकृत कर कार्रवाई की मांग की। इस दौरान उन्होंने बीजेपी सरकार व आरएसएस पर भी जमकर हमला बोला।

ये भी पढ़ें- आजमगढ़ में मुंबई से घर आया प्रवासी निकाला कोरोना पॉजिटिव, गांव व आसपास का क्षेत्र घोषित किया गया कंटेनमेट जोन

अतुल सिंह अमिलिया नाम की फेसबुक प्रोफाइल से मुलायम सिंह यादव व पूर्व सीएम अखिलेश यादव की टोपी पहने हुए पोस्ट कर अभद्र टिप्पणी की गयी है। गुरूवार को इसकी जानकारी होने के बाद सपा जिलाध्यक्ष हवलदार यादव, पूर्व मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव, विधायक आलमबदी, विधायक डा. संग्राम यादव, एमएलसी राकेश यादव, पूर्व सांसद बलिहारी बाबू एसपी कार्यालय पहुंचकर पुलिस अधीक्षक प्रो. त्रिवेणी सिंह से मुलाकात कर पोस्ट पर नाराजगी व्यक्त की तथा एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तार करने की मांग की।

ये भी पढ़ें- कोरोनावायरस से गर्भवती न डरें, 8 बिंदुओं में जानें इस दौरान क्या करें और क्या न करें

सपा जिलाध्यक्ष ने कहा कि समाजवादी पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह को लेकर सोशल मीडिया फेसबुक पर अतुल सिंह अमिलिया के नाम से अभद्र टिप्पणी व गाली की भाषा का इस्तेमाल कर जो बातें कही गयी है, वह आरएसएस द्वारा प्रायोजित भाषा है। जब्कि देश में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा समय पर व पहले लॉकडाऊन का निर्णय न लेने से देश का गरीब, मजदूर, किसान, बहुसंख्यक तबका जलालत व परेशानियों को झेलने के कारण टूट चुका है। छोटे उद्योग धन्धे बर्बाद हो गये। कई करोड़ लोग बेरोजगार हो गये। प्रवासी मजदूर अनेक कष्ट सहकर किसी तरह अपने घरों तक पहुॅच रहे। कितने लोग एक्सीडेन्ट, कमजोरी व बीमारी से, पैदल चलने से अकाल मौत के शिकार हो रहे है। वहीं आरएसएस अयोध्या मन्दिर, मस्जिद जैसे मुद्दों को खड़ाकर भाजपा के विरूद्ध जनमानस को दिग्भ्रमित करना चाह रहा है। मुलायम सिंह यादव देश के राष्ट्रीय नेता हैं। सभी दलों के लोग व जनता उनको सम्मान से नेता जी कहते हैं। संविधान के प्राविधानों का अक्षरशः पालन करने वाले देश के एकमात्र ईमानदार नेता हैं। उनको न्याय के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान के लिए 28 मई 2012 में लंदन में अन्तर्राष्ट्रीय जूरी अवार्ड से सम्मानित किया गया। ऐसे व्यक्ति के खिलाफ इस तरह की भाषा का उपयोग ओछी मानसिकता को दर्शाता है। आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए।

BJP
Show More
Abhishek Gupta Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned