पुलिस मुठभेड़ में 25 हजार के ईनामी दो बदमाश गिरफ्तार, एक फरार

डी-71 गैंग के लिए काम करते है दोनों बदमाश, एटीएम क्लोन के जरिये लोगों को लगाते हैं चूना

एक दिन पूर्व गैंग का सरगना पुलिस मुठभेड़ में हुआ था घायल, अन्य सदस्यों की तलाश जारी

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. एटीएम क्लोन तैयार कर लोगों के खाते से रूपया उड़ाने वाले डी-71 के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई लगातार जारी है। बुधवार की भोर में पुलिस ने हल्की मुठभेड़ के बाद 25 हजार के ईनामी गैंग के दो सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया जबकि एक बदमाश बाइक लेकर भागने में सफल रहा। इसके पूर्व सोमवार की रात में पुलिस ने गैंग के सरगना को मुठभेड़ में घायल होने के बाद गिरफ्तार किया था। पुलिस ने आरोपियों के पास से तमंचा व कारतूस बरामद किया है।

थानाध्यक्ष बिलरियागंज धर्मेन्द्र कुमार सिंह बुधवार की भोर में अपराधियों की तलाश में सियरहा बार्डर पर निर्माणाधीन हाइवे के पास वाहन चेकिंग कर रहे थे। उसी दौरान एक बाइक पर सवार तीन व्यक्ति आजमगढ़ की तरफ से तेज रफ्तार में आते दिखाई दिये। पुलिस बल द्वारा टार्च की रोशनी में रुकने का इशारा किया गया तो उक्त लोग बाइक मोड़कर भागने की कोशिश किये लेकिन बाइक अनियंत्रित होकर पलट गयी। पुलिस ने उक्त लोगों की घेरेबंदी करने की कोशिश की तो बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी। फायरिंग का फायदा उठाकर एक बदमाश बाइक लेकर भाग गया जबकि पुलिस ने दो को घेरेबंदी कर भोर में करीब 3 बजे पकड़ लिया।

पकड़ा गया बदमाश अमलेश गौतम पुत्र बासदेव गौतम दीदारगंज थाना क्षेत्र के भादों व विशाल गौतम पुत्र सुजीत गौतम सिसवारा गांव के रहने वाले हैं। फरार बदमाश रामविलास पुत्र सन्तलाल दीदारगंज थाना क्षेत्र के सुरहन गांव का निवासी बताया गया है। तलाशी में अमलेश गौतम के पास से पुलिस ने देशी तमंचा, एक अदद जिन्दा कारतूस व एक अदद खोखा कारतूस .303 बोर बरामद किया। पुलिस के मुताबिक अमलेश गौतम डी-71 गैंग का सदस्य है जिस पर पुलिस अधीक्षक 25,000 रूपये का ईनाम रखा गया है। दोनों को जेल भेज दिया गया है।

पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि पुछताछ में पता चला है कि बीती रात दीदारगंज थाना क्षेत्र के बैरकडीह गांव के पास हुई पुलिस मुठभेड़ में अमलेश मौके का फायदा उठाकर फरार हो गया था तथा अभियुक्त नवीन गौतम को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। आज वह अपने साथियो के साथ देवारा में छिपने के लिए जा रहा था उसी दौरान मुठभेड में गिरफ्तार कर लिया गया। अमलेश गौतम ने पुछताछ में स्वीकार किया हैं कि वह अपने साथी नवीन गौतम के साथ 02 फरवरी कोयूनियन बैंक आफ इण्डिया की शाखा महुवारा के बाहर लगे एटीएम के पास खड़े होकर एक व्यक्ति का एटीएम कार्ड का क्लोनिंग कर उसी दिन शाम को खुदाद्दापुर थाना निजामबाद से 21,000 रूपया निकाला था।

BY Ran vijay singh

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned