आजमगढ़ में केशव प्रसाद मौर्या किसानों में बाटेंगे ऋण माफी प्रमाण पत्र, जोर शोर से चल रही तैयारी

किसानों की कर्जमाफी के बाद अब उन्हे कर्ज माफी का प्रमाण पत्र देने की रणनीति से भाजपा राजनीतिक समीकरण भी तलाश रही है।

आजमगढ़. किसानों की कर्जमाफी के बाद अब उन्हे कर्ज माफी का प्रमाण पत्र देने की रणनीति  से भाजपा राजनीतिक समीकरण भी तलाश रही है।  इसके माध्यम से सरकार की मंशा ज्यादा से ज्यादा किसानों के बीच सरकार की उप्लब्धियां बताने की है। प्रदेश की उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या 11 सितंबर यानि सोमवार को जिले में होंगे। डिप्टी सीएम के  द्वार जिले के पांच हजार किसानों को कर्ज माफी का प्रमाण पत्र दिया जाना है। जिसको लेकर प्रशासन ने तैयारियां तेज कर दी हैं। जिला प्रशासन इस बात को लेकर भी तैयार है कि हर हाल में डिप्टी सीएम के कार्यक्रम को सफल बनया जाय।  

 

 

 

जिले के प्रभारी हैं केशव मौर्या 

प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या जिले के प्रभारी मंत्री भी हैं। सोमवार को नगर के आईटीआई मैदान में होने वाले इस कार्यक्रम को लेकर जिले के भाजपा नेता भी पूरी तरह से सक्रियता दिखा रहे हैं। नेताओं को भी इस बात का अंदाजा है कि डिप्टी सीएम का यह कार्यक्रम अगर कहीं से भी कमजोर पड़ा तो ये उनके कैरियर के लिए भी नुकसानदायी हो सकता है। ऐसे में भाजपा के जिले से लेकर बूथ तक के कार्यकर्ता इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए पूरी ताकत झोंक रहे हैं। केशव प्रसाद मौर्या 11 सितंबर को यहां हेलीकाप्टर से 12.30हाफिजपुर स्थित 20वीं वाहिनी पीएसी ग्राउंड के हेलीपैड पर आएंगे। 12.35बजे कार्यक्रम स्थ आइटीआई मैदान पहुंचेंगे। 12.50 से 1.20 बजे तक पार्टी कोर कमेटी की बैठक और जिले के विकास के संबंध में अधिकारियों के साथ  भी बैठक करेंगे। 3.20 बजे प्रेस-प्रतिनिधियों के साथ वार्ता करेंगे।  शाम करीब 4 बजे लखनऊ के लिए प्रस्थान करेंगे। 

 

 

जिलाधिकारी चन्द्रभूषण सिंह ने बताया कि पहले चरण में 14192 किसानों के खाते में कर्ज माफी की धनराशि भेज दी गई है । इन्ही किसानों में से 5000किसानों को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या  प्रमाण पत्र देगें । शेष बचे हुए किसानों का प्रमाण पत्र तहसीलवार जनप्रतिनिधि वितरित करेगें। 

 

वाराणसी उत्तर प्रदेश
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned