मुलायम के आजमगढ़ में पीएम मोदी के बनारस जैसा करो विकास

 मुलायम के आजमगढ़ में पीएम मोदी के बनारस जैसा करो विकास
Azamgarh Development meeting

स्वच्छता और यातायात व्यवस्था को लेकर कड़ी हिदायत। विकास की योजनाओं के साथ लापरवाही और मनमानी बर्दाश्त नहीं।

आजमगढ़. नाम बड़े और दर्शन छोटे की कहावत कों विद्युत विभाग चरितार्थ कर रहा है। विभाग के अधिकारी विद्युत व्यवस्था को लेकर बडे-बड़े दावे कर रहे है लेकिन हकीकत सोमवार को मंडलायुक्त की समीक्षा में खुल गयी। विभाग अब तक अडंरग्राउड केबिल बिछाने का कार्य मात्र 77 प्रतिशत ही कर सकता है। मंडलायुक्त ने इस लापरवाही पर नाराजगी जतायाी और कार्य में तेजी लाकर तत्काल पूरा करने का निर्देश दिया। वहीं  शहरों की साफ सफाई, यातायात व्यवस्था सुदृढ बनाने को कहा।




मण्डलायुक्त नीलम अहलावत ने अपने कार्यालय सभागर में समीक्षा के दौरान कहा कि मण्डल में अण्डरग्राउण्ड केबिल बिछाने के सम्बन्ध में काफी शिकायतें मिल रही हैं जिसपर तत्काल ध्यान देने की जरूरत है। अब तक 77 प्रतिशत ही कार्य सम्पन्न हो सका है, जबकि बरसात से पूर्व यह कार्य शत प्रतिशत हो जाना चाहिए था। मण्डलायुक्त ने अण्डरग्राउण्ड केबिल बिछाने की धीमी प्रगति तथा सड़कों गलियों को खोदकर लम्बे समय तक छोड़ देने पर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए अधीक्षण अभियन्ता विद्युत को सख्त निर्देश दिया कि यह कार्य यथाशीघ्र पूरा करायें।




इसके साथ ही उन्होने तीनों जनपद के नगर मजिस्ट्रेट को निर्देश दिया कि यदि अण्डरग्राण्ड के बिछाने के लिए बिना परमिट लिए सड़को, पटरियों, गलियों आदि की खोदाई करते हुए पाये जाते हैं तो तुरन्त काम को रोकें तथा सम्बन्धित कार्यदायी संस्था के विरुद्ध कार्यवाही करेें। मण्डलायुक्त ने स्वच्छ भारत मिशन से सम्बन्धित विभिन्न बिन्दुओं की समीक्षा करते हुए कहा कि यह भारत सरकार की अति महत्वपूर्ण योजना है। इसलिए पूरी मेहनत, लगन और निष्ठा से कार्य करें, ताकि मिशन को शासन की मंशा के अनुरूप साकार रूप दिया जा सके।





उन्होने सभी अधिशासी अधिकारियों से कहा कि शहरों, नगरों को साफ सुथरा रखने के लिए कार्यरत कर्मचारियों, वांछित कर्मचारियों की जरूरत है उसका पूरा विवरण तैयार कर प्रस्तुत करें। इसके अलावा जिन मशीनों, उपरणों, वाहनों तथा जितनी धनराशि की आवश्यता हो उसका प्रस्ताव भी उपलब्ध करायें। मण्डलायुक्त ने यह भी निर्देश दिरया कि सीवरेज की व्यवस्था हेतु जल्द से जल्द जमीन तलाश कर ली जाय। यदि शहर के बाहर जमीन उपलब्ध नहीं है तो शहर के करीब पंचायत की जमीन देखें तथा अवगत करायें।




उन्होने निर्देश दिया कि जहां भी जरूरत हो सीवर लाइन की मरम्मत अवश्य करा लें। बैठक में बताया गया कि आजमगढ़ में 7-8 सौ मीटर सीवर लाइन तैयार है परन्तु अभी तक हैण्डओवर नहीं हो सकी है। इस पर उन्होने अधिशासी अभियन्ता जल निगम को निर्देशित किया कि उसे तत्काल हैण्डओवर करें। यह भी अवगत कराया गया कि जनपद बलिया में भी सीवर लाइन तैयार है परन्तु चालू नहीं हो सका है, नाले से पानी बहाया जा रहा है। मण्डलायुक्त ने कहा कि शहरों को साफ सुथरा रखने के लिए सीवर लाइन का चालू रहना अति आवश्यक है।




उन्होने अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद बलिया को निर्देशित किया कि तैयार सीवर लाइन को चालू कराने में तत्परता दिखायें। मण्डल के तीनों जनपदों में पाईप लाइन की स्थिति की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि क्षतिग्रस्त पाइप लाइन को तत्काल ठीक करायें तथा जो नई पाइप लाइन बिछाना है उसका प्रस्ताव उपलब्ध करायें। मण्डलायुक्त श्रीमती अहलावत ने शहरों में जाम की स्थिति से बचने तथा निर्बाध यातायात व्यवस्था सुनिश्चित करने के सम्बन्ध में पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि टैªफिक की सुगमता हेतु जहां कहीं भी ट्रैफिक लाइट की जरूरत है उसके बारे में बतायें। क्षेत्राधिकारी नगर ने कहा कि आजमगढ़ शहर के चार चैराहों पर टैªफिट लाइट की आवश्यकता है।




इस पर मण्डलायुक्त ने विस्तृत विवरण उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। अध्यक्ष, नगर पालिका परिषद मऊ के प्रतिनिधि अरशद जमाल ने मऊ में यातायात व्यवस्था सुदृृढ़ करने में रोडवेज को अन्य स्थान पर विस्थापित किये जाने का सुझाव देते हुए कहा कि नगर पालिका द्वारा रोडवेज के लिए नगर पालिका क्षेत्र में ही पर्याप्त जमीन उपलब्ध कराने के लिए तैयार है। इस पर मण्डलायुक्त श्रीमती अहलावत ने मऊ के मुख्य विकास अधिकारी एवं नगर मजिस्ट्रेट को इस दिशा में आवश्यक कार्यवाही करने का निर्देश दिया।




बैठक में सड़को के किनारे पटरियों पर लगने वाले ठेले, दुकानों आदि की व्यवस्था, स्कूल बसों के सुगम संचालन आदि पर भी विस्तार से चर्चा हुई। समीक्षा के दौरान नगर पालिका अध्यक्ष आजमगढ़ इन्दिरा जायसवाल, अपर आयुक्त प्रशासन अनिल कुमार मिश्र, संयुक्त विकास आयुक्त हीरालाल, सचिव, आजमगढ़ विकास प्राधिकरण ऋतु सुहास, अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) आजमगढ़ आशुतोष कुमार द्विवेदी, मुख्य विकास अधिकारी मऊ गिरिजेश त्यागी, बलिया एवं मऊ के नगर मजिस्ट्रेट क्रमशः राम गोपाल सिंह व अमरनाथ राय, चेयरमैन, नगर पंचायत सरायमीर राम प्रकाश यादव सहित, विद्युत, जल निगम, लोक निर्माण आदि सम्बन्धित विभागों के अधीक्षण अभियन्ता सहित समस्त नगर पालिका एवं नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारीगण उपस्थित थे।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned