जागरूकता कार्यक्रम में आजमगढ़ डीएम ने ग्राम्र प्रधानों की दी ये हिदायत 

जनपद में सफाई व्यवस्था तथा जन जागरूकता कार्यक्रम के अन्तर्गत पंचायती राज विभाग

आज़मगढ़. जनपद में सफाई व्यवस्था तथा जन जागरूकता कार्यक्रम के अन्तर्गत पंचायती राज विभाग द्वारा जिले के बिलरियागंज, हरैया तथा अजमतगढ़ विकास खण्डों के ग्राम प्रधान, एडीओ पंचायत, ग्राम पंचायत अधिकारी तथा ग्राम विकास अधिकारियों के साथ रविवार को जिलाधिकारी चन्द्रभूषण सिंह की अध्यक्षता में राहुल सांकृत्यायन प्रेक्षागृह में जागरूकता कार्यक्रम आयोजन किया गया। 


 
जागरूकता कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए  जिलाधिकारी ने कहा कि ग्रामसभा के अन्तर्गत आने वाली सार्वजनिक सम्पत्तियों की देखभाल तथा संरक्षण का दायित्व सम्बन्धित अधिकारियों के साथ ही ग्राम प्रधान की भी होती है, तथा इसमें किसी भी क्षति के लिए वे भी जिम्मेदार होते हैं। उन्होंंने कहा कि ग्राम प्रधानों को ग्रामीण विकास से सम्बन्धित योजनाओं में रूचि लेते हुए योजनाओं को लागू करने में सहयोग प्रदान करना होगा। उन्होने खुले में शौच की समस्या के समाधान के लिए जनपद में प्राथमिक ईकाई के रूप में ग्राम प्रधान को मानते हुए कहा कि उनके सहयोग से ही खुले में शौच मुक्त समाज की स्थापना सम्भव है। 
 


 
जिलाधिकारी ने तालाबों के रखरखाव के साथ ही वृक्षारोपण, चकरोड, सार्वजनिक भूमि, जल आदि का संरक्षण करना ग्राम प्रधान का उत्तरदायित्व है तथा ग्रामसभा में आमजनता की स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाये रखने के लिए सम्बन्धित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों से सम्पर्क कर समय-समय पर कैम्प के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने का भी कार्य करें। 




राशन वितरण व्यवस्था में पारदर्शिता लाने के लिए उन्होने ग्राम प्रधानों को खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अन्तर्गत गांव के 74 प्रतिशत परिवारों को राशन वितरण कराने की जिम्मेदारी सौपी तथा इसमें किसी भी प्रकार की अनियमितता के लिए वें स्वंय जिम्मेदार होगें। इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एके तिवारी, परियोजना निदेशक एसके पाण्डेय, जिला पंचायत राज अधिकारी जीतेन्द्र कुमार मिश्रा, जिला समन्वयक स्वच्छ भारत मिशन सैयद हसन नकवी आदि उपस्थित थें। 

Show More
ज्योति मिनी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned