तुर्की से पैराबैडमिंटन चैम्पियन गोल्‍ड मेडल जीतकर लौटे डीएम का आजमगढ़ में जोरदार स्‍वागत

   तुर्की से पैराबैडमिंटन चैम्पियन गोल्‍ड मेडल जीतकर लौटे डीएम का आजमगढ़ में जोरदार स्‍वागत

इसके पहले चीन में जाकर गाड़ा था भारत का झण्डा। तुर्की में इस बार जीते हैं दो गोल्ड मेडल।

आजमगढ. पहले बीजिंग में भारत को गोल्‍ड मेडल दिलाने वाले डीएम सुहास एल वाई टर्की में आयोजित प्रतियोगिता से दो स्‍वर्ण जीतकर लौटे तो जिले के लोगों ने मंगलवार को जोरदार स्‍वागत किया। इस दौरान लोगों ने उन्‍हें जहां फूल-मालाओं से लाद दिया वहीं केट खिलाकर जीत की बधाई दी। लोगों ने उम्‍मीद जताई की पैरा ओलंपिक से पहले जिलाधिकरी बैडमिंटन में विश्‍व में पहली रैंकिंग हासिल करेंगे। वहीं जिलाधिकारी ने जीत का श्रेय ईश्‍वर की कृपा और जिले के लोगों के स्‍नेह और आर्शीवाद को दिया।
 

 
बता दें कि हाल में तुर्की में टर्किश पैरा बैडमिंटन द्वारा आयोजित एनेस कप अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में सिंगल और डबल मुकाबले का खिताब जिलाधिकारी आजमगढ़ सुहास एलवाई ने आने नाम किया था। एकल के फाइनल में सुहास ने भारत के ही सुकान्त कदम को सीधे सेटों में 21-16, 21-10 से हरा कर स्वर्ण पदक जीता था, वहीं युगल मुकाबले में उन्होंने सुकान्त कदम और मैथ्यू थॉमस की जोड़ी को अपने जोड़ीदार स्पेन के साइमन क्रूज के साथ तीन गेम के संघर्ष में 21-15, 17-21 और 21-19 से पराजित किया था।






प्रतियोगिता में जबरदस्‍त सफलता हासिल करने के बाद जिलाधिकारी मंगलवार को आजमगढ़ पहंचे तो लोगों ने जगह जगह उनका जोरदार स्‍वागत किया। लालगंज तहसील में तहसील बार एसोशिएसन और तहसील कर्मीयों ने डीएम को फूलमालाओं से लाद दिया तो जिलाधिकारी आवास पर पूर्वांचल विकास आंदोलन, जिला बैंडमिंटन संघ सहित विभिन्नि संगठनों ने उनका स्‍वागत किया।





जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने कहा कि यह जीत देश, प्रदेश और आजमगढ की जनता के आर्शीवाद से मिली है। इससे मैं काफी खुश और गौरवान्वित महसूस कर रहा हॅू। यह बात किसी से छिपी नही है आजमगढ के लोग विभिन्न क्षेत्रो में जाकर देश और प्रदेश कि साथ ही जिले का नाम रोशन करते आये है। उन्होने आशा जताई कि आगे भी जिले की प्रतिभाएं इस जिले और प्रदेश का नाम पूरी दुनिया में रोशन करती रहेगी। उन्होने युवाओं से कहा कि यदि किसी भी काम में पूरी तन्मयता, लगन, परिश्रम से किया जाय तो सफलता निश्चित रूप से मिलेगी। 




जिला बैडमिंटन संघ के सचिव व लाइफ लाइन अस्‍पताल निदेशक डा. पियूष यादव ने कहा कि जिलाधिकारी ने दोहरी सफलता अर्जित कर हम आजमगढ़ वासियों को ही नहीं बल्कि पूरे देश को गौरवान्वित किया है। इस प्रतियोगिता में दोहरी सफलता से उनकी रैकिंग वर्ल्‍ड लेबल पर काफी बढ़ी है। हमें भरोसा है कि पैरा बैडमिंटन ओलंपिक से पहले जिलाधिकारी पहली रैंकिंग हासिल करेंगे। उन्‍होंने कहा कि आज जिलाधिकारी हर युवा के लिए प्रेरणाश्रोत हैं। वे जब स्‍टेडियम में खेलते हैं तो वहां मौजूद सभी खिलाड़ी प्रेरित होते है। स्‍कूली बच्‍चों के लिए तो वे रोल माडल बन चुके है।




पूर्वाचल विकास आंदोलन के अध्‍यक्ष प्रवीण सिंह ने कहा कि आज जिलाधिकारी हम सभी के लिए प्रेरणाश्रोत बन चुके है। इन्‍होंने आजमगढ में खेल को नई दिशा दी है। आज हर युवा खेल में अपनी किस्‍मत आजमाना चाहता है। हमें उम्‍मीद है की जिलाधिकारी ओलंपिक में भी भारत के लिए गोल्‍ड हासिल करेंगे।
खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned