त्वचा पर चकत्ते और तेज सिरदर्द में लापरवाही से जा सकती है जान, ये लक्षण दिखें तो तुरंत ही डॉक्टर को दिखाएं

- अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एके सिंह ने किया जागरूक
- संचारी रोग नियंत्रण व दस्तक अभियान के तहत लोगों को किया जा रहा जागरूक

By: Hariom Dwivedi

Published: 20 Jul 2020, 06:49 PM IST

आजमगढ़. त्वचा पर चकत्ते पड़ रहे हों, तेज सिरदर्द, पीठदर्द और आंखों में दर्द हो, तेज बुखार हो, मसूढ़े व नाक से खून बह रहा हो तो इन सभी डेंगू के लक्षणों को हल्के में न लें। तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र जाकर जांच कराकर इलाज कराएं। इन लक्षणों को हल्के में लेना जीवन पर भारी पड़ सकता है।

वेक्टर बार्न डिजीज के नोडल अधिकारी एवं अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एके सिंह ने बताया कि कोरोना वायरस (कोविड-19) के समय इन लक्षणों के प्रति लापरवाही भारी पड़ सकती है, क्योंकि इससे प्लेटलेट्स घटने लगता हैं। आंतरिक रक्तस्राव हो सकता है और मृत्यु हो सकती है। इसलिए ऐसे लक्षण दिखने पर तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर पहुंचकर जांच कराने की जरूरत है।

ऐसे रोगों के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए 31 जुलाई तक संचारी रोग नियंत्रण अभियान एवं दस्तक अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर लोगों को संचारी रोगों के प्रति लोगों को जागरूक कर रहीं हैं। संचारी रोगों में मलेरिया, मस्तिष्क ज्वर के साथ ही डेंगू भी है। डेंगू, मस्तिष्क ज्वर, मलेरिया आदि मच्छरजनित रोग है। इसलिए मच्छरों से बचाव करें और आसपास मच्छरों के लार्वा पनपने न दें।

ऐसे खत्म करें मच्छरों का लार्वा
डेंगू, जेई, एईएस, मलेरिया और फाइलेरिया आदि के मच्छरों के लार्वा को समाप्त करने के लिए कूलर, छत, घरके आसपास लंबे समय तक पानी एकत्र न होने दे। पानी इकट्ठा रहने वाले स्थान पर सप्ताह में एक बार जले मोबिल का छिड़काव अवश्य करते रहें।

Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned