मां-बेटी की हत्या कर अलग-अलग जिलों में फेंका शव, मौके पर कई थानों की पुलिस मौजूद

मां-बेटी की हत्या कर अलग-अलग जिलों में फेंका शव, मौके पर कई थानों की पुलिस मौजूद
मेहनाजपुर थान क्षेत्र के भाखा गांव में मां बेटी को उतारा मौत के घाट

Ashish Kumar Shukla | Updated: 06 Oct 2019, 06:53:45 PM (IST) Azamgarh, Azamgarh, Uttar Pradesh, India

मेहनाजपुर थान क्षेत्र के भाखा गांव में मां बेटी को उतारा मौत के घाट

आजमगढ़. मेंहनाजपुर थाना क्षेत्र के ढाखा गांव में मां-बेटी की हत्या से सनसनी फैल गयी है। दोनों का गला दबाकर अथवा पानी में डूबोकर मारने की आशंका जताई जा रही है। मां का शव घर से पांच सौ मीटर दूर खेत तथा बेटी का शव गाजीपुर जिले के मनौरा गांव से बरामद किया गया है। घटना के बाद मृतका के रिश्तेदारों में गुस्सा साफ दिख रहा है। उन्होंने हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शव पोस्टमार्टम में भेजने से मना कर दिया था जिसे लेकर पुलिस से नोकझोंक भी हुई लेकिन स्थानीय लोगों के हस्तक्षेप के बाद शव पीएम के लिए भेज दिया गया है। मौके पर कई थाने की पुलिस मौजूद है।

मेहनाजपुर थान क्षेत्र के भाखा गांव निवासी नेसार अहमद दुबई में रहता है। घर पर उसकी पत्नी नूरिननिशा 40 अपनी तीन बेटियों और दो बेटों के साथ रहती थी। कुछ समय पूर्व वह अपने परिवार से अगल हो गयी थी। शनिवार की रात सभी भोजन कर सो गए थे। चुंकि नूरिननिशा परिवार से अलग अपने बच्चों के साथ रहती थी इसलिए किसी को पता ही नहीं चला कि रात में वह कब अपनी 18 वर्षीरू बेटी गजाला के साथ गायब हो गयी। सुबह जब उसके बाकी बच्चों ने मां और बहन की तलाश शुरू की तो लोगों को उनके गायब होने की सूचना मिली। इसके बाद दोनों की तलाश शुरू हुई। रविवार की पूर्वाह्न करीब 11 बजे नूरिननिशा का शव घर से करीब पांच सौ मीटर की दूरी पर खेत में पाया गया। शव मिलने की सूचना पर बड़ी संख्या में लोग मौके पर पहुंच गए। स्थानीय लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी।

वहीं दूसरी तरफ गजाला का शव कुछ देरी बाद ही आजमगढ़ जनपद की सीमा से सटे गाजीपुर जनपद के शादात थाना क्षेत्र के मलौर गांव की सिवान में मिल गया। घटना की जानकारी होने पर गाजीपुर पुलिस मौके पर पहुंच गयी। घर का कोई बच्चा यह नहीं बता पा रहा है कि आखिर मां-बेटी रात में कब और कैसे घर से गायब हुई। लालगंज सीओ अजय कुमार यादव और गाजीपुर के सीओ रामबहादुर सिंह ने भी मृत मां-बेटी के घर में तलाशी ली और बच्चों से पूछताछ के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजना चाहा लेकिन तभी मृतका के मायके वाले वहां पहुंच गए और हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने से रोक दिया।

इस दौरान तीखी नोखझोक भी हुई लेकिन स्थानीय लोगों के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हो गया। दोनों शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिये गए। हत्या के पीछे आशनाई की आशंका जताते हुए पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। पुलिस का कहना है कि दोनों की मौत कैसे हुई यह पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट होगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned