scriptFarmers should sow tur on ridge income will increase with production | अधिक उत्पादन के लिए किसान मेड़ विधि से करें अरहर की खेती, जल भराव से की नहीं होगा नुकसान | Patrika News

अधिक उत्पादन के लिए किसान मेड़ विधि से करें अरहर की खेती, जल भराव से की नहीं होगा नुकसान

खरीफ में अरहर एक मुख्य फसल है लेकिन जलजमाव की स्थित में इस फसल को सर्वाधिक नुकसान पहुंचता है। पिछले कुछ सालों में अरहर का उत्पादन तेजी से गिरा है। ऐसे में कृषि वैज्ञानिकों का मानना है कि अगर किसान मेड़ विधि से अरहर की बोआई करें तो बेहतर उत्पादन कर सकते हैं।

आजमगढ़

Updated: July 06, 2022 02:15:58 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़ अरहर दलहन की मुख्य फसल है लेकिन इसकी खेती में किसानों को कभी कभी भारी घाटा उठाना पड़ता है। कारण की आज भी ज्यादातर लोग इसकी बोआई छिड़काव विधि से करते है। ऐसे में अधिक बरसात के समय जलनिकासी की अच्छी व्यवस्था न होने अथवा जल जमाव की स्थित में फसल सूख जाती है। यदि किसान पारंपरिक विधि से हटकर मेड़ पर बोआई करें तो न केवल उत्पादन बढ़ जाएगा बल्कि फसल उकठने का खतरा भी समाप्त हो जाएगा।

प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटो

कृषि विज्ञान केंद्र कोटवां के फसल सुरक्षा वैज्ञानिक डा. आरपी सिंह का कहना है कि किसान अधिक उपज के लिए अरहर की खेती में 45 गुणे 45 सेंटीमीटर की दूरी पर मेड़ व नाली बनाए। इसके बाद मेड़ पर 25 से 30 सेंटीमीटर की दूरी पर हाथ या मशीन से बोआई करे। बोआई के समय प्रति एकड़ 50 किग्रा डीएपी का प्रयोग करें। इस विधि से बोआई कर हम प्रति एकड़ 11 से 12 कुंतल उपज प्राप्त कर सकते है। उन्होंने बताया कि उर्वरक का उपयोग हम खेत तैयार करते समय कर सकते है। वेड प्लांटर या गन्ना रेजर से मेड़ बनाई जा सकती है।

मेड़-नाली विधि के लाभ

-कम वर्षा होने पर वर्षा जल संरक्षण किया जा सकता है।

-अधिक वर्षा होने पर पूरे खेत का पानी नाली के माध्यम से निकाला जा सकता है।

-नीलगायों से फसल बचाव में मेडऩाली पद्धति लाभदायक है। क्योंकि ऐसे खेतों में घडऱोज भागदौड़ या रैनबसेरा नहीं बना सकते। वे जिस नाली में घुसेगें उसी नाली से होते हुए बाहर निकल जाते हैं।

-कीटनाशी दवाओं का छिड़काव व अन्य सस्य प्रबंधन आसानी से अपनाया जा सकता है।

- बोआई के समय मेड़ों पर मक्के की बोआई भी की जा सकती है। इससे किसानों को एक अतिरिक्त फसल का लाभ मिल जाता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

पश्चिम बंगाल में STF को मिली बड़ी सफलता, अल-कायदा से जुड़े दो आतंकवादियों को किया गिरफ्तारBJP में शामिल होंगे JDU के पूर्व अध्यक्ष RCP सिंह, नीतीश के बारे में कहा- 7 जन्म में नहीं बन सकेंगे प्रधानमंत्रीराजू श्रीवास्तव की हालत नाजुक, ब्रेन हुआ डेड, दिल नहीं कर रहा काम, शुरू कराया गया महामृत्युंजय जापअशोक गहलोत ने गुजरात सरकार पर साधा निशाना, प्रदेश के विकास मॉडल को बताया खोखलाJammu Kashmir: बाहरी लोगों को वोट के अधिकार देने पर भड़के कश्मीरी नेता, मुफ्ती और उमर ने केंद्र पर साधा निशानाGujarat Assembly Elections: AAP ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट, जानें किसे कहां से मिला टिकट?शुभेंदु अधिकारी का दावा, दिसंबर तक टूट जाएगी TMC, बंगाल में दोहराया जाएगा महाराष्ट्र!Karnataka: BJP में दरार, MLA बसनगौड़ा यतनाल ने कहा- मैं सीएम बना तो पार्टी जीतेगी 150 सीटें
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.