मोबाइल चार्ज करना पड़ा महंगा, बाप-बेटे की मौत

मोबाइल चार्ज करना पड़ा महंगा, बाप-बेटे की मौत

Mohd Rafatuddin Faridi | Publish: Sep, 03 2018 08:47:05 PM (IST) Azamgarh, Uttar Pradesh, India

जनमाष्टमी पर हुई इस घटना ने सबको हिलाकर रख दिया।

आजमगढ़. पवई थाना क्षेत्र के सुलेमापुर गांव में रविवार की रात को मोबाइल का चार्जर लगाते समय करेंट की चपेट में आने से 15 वर्षीय किशोर की मौत हो गई। कुछ देर बाद जब पिता उसी कमरे में पहुंचा तो वह भी करेंट की चपेट में आ गया और उनकी भी मौत हो गई। पिता-पुत्र की मौत से परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

 

सुलेमापुर गांव निवासी 15 वर्षीय अभिषेक पासी पुत्र जगदंबा पासी रविवार की रात को लगभग नौ बजे मोबाइल चार्जर लगाने के लिए घर के अंदर लोहे के बड़े बाक्स पर रखा बिजली के जंक्शन बाक्स में मोबाइल फोन चार्जर का तार लगा रहा था। उसी दौरान करेंट की चपेट में आ जाने से उसकी मौत हो गई। पिता 45 वर्षीय जगदंबा पासी पुत्र लक्षिमन पासी जन्माष्टमी के पर्व पर आयोजित कार्यक्रम देखने के लिए गांव में गए थे।

 

कार्यक्रम स्थल से भोजन करने के बाद रात में जब घर आए तो बेटे को मृत पड़ा देख सन्न रह गए। वह मृत पुत्र को घर के बाहर निकाल कर लाए। परिजनों का कहना है कि पुत्र का शव बाहर लाने के बाद वह लोहे के उसी बाक्स में रखे रुपये लेने के लिए पहुंचे, तभी स्वयं करेंट की चपेट में आ गए झुलस गए। काफी देर बाद भी जब वे घर से बाहर नहीं आए तो गांव के कुछ लोग कमरे में देखने के लिए पहुंचे। उन्हें भी करेंट से झुलसा देख ग्रामीण किसी तरह बाहर निकाल कर लाए।

 

गांव के लोग पिता-पुत्र को जीवित होने की आशंका पर इलाज के लिए पवई स्वास्थ्य केंद्र पर लेकर पहुंचे, जहां डाक्टर ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। पिता-पुत्र के मौत की खबर जब परिजनों को हुई तो उनकी चीख-पुकार से गांव में कोहराम मच गया। मृत अभिषेक चार भाइयों में दूसरे नंबर पर था। वह लालबहादुर शास्त्री इंटर कालेज मिल्कीपुर में कक्षा नौ का छात्र था। जगदंबा भी छह भाइयों में तीसरे नंबर पर थे। पत्नी प्रमिला देवी का रो-रोकर बुरा हाल है। परिवार के लोग दोनों के शव को सोमवार की सुबह ले जाकर दाह संस्कार कर दिया। पूछे जाने पर पवई थानाध्यक्ष ने कहा कि इस तरह की किसी भी घटना की उन्हें सूचना नहीं मिली है।

By Ran Vijay Singh

Ad Block is Banned