यूपी के आजमगढ़ में पुलिस चौकी के पास महिला विद्युतकर्मी पर ताबड़तोड़ फायरिंग, मचा हड़कंप

ताबड़तोड़ फायरिंग से क्षेत्र में मचा हड़कंप, मौके से खोखा व गोली बरामद...

By: ज्योति मिनी

Published: 27 Jun 2018, 05:35 PM IST

आजमगढ़. जिले की पुलिस एक बार फिर अपराध नियंत्रण में पूरी तरह फेल साबित हो रही है। बदमाशों के दुस्साहस का अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि, पुलिस चौकी से बामुश्किल 20 मीटर की दूरी पर बुधवार की अलसुबह बदमाशों ने महिला विद्युतकर्मी के घर पर चढ़कर ताबड़तोड़ फायरिंग की। बारजे की दीवार मजबूत होने के कारण महिला बालबाल बच गई। पुलिस ने मौके से गोली बरामद किया है। घटना का कारण भूमि विवाद बताया जा रहा है। कर्मचारी ने अपनी बड़ी बहन और बहनोई के खिलाफ तहरीर दी है।


शहर कोतवाली क्षेत्र के पठखौली ( बलरामपुर पुलिस चौकी के सामने ) निवासी सरिता पांडेय 40 पत्नी रत्नेश पांडेय बिजली विभाग में कर्मचारी है। सरिता का इलाहाबाद जनपद के कैंट थाना क्षेत्र के म्यौराबाद की रहने वाल बहन संगीता पत्नी शैलेंद्र उपाध्याय से भूमि विवाद चल रहा है।


बुधवार की भोर में करीब 4.30 बजे सरिता सोकर उठी और मार्निंग वाक पर निकलने से पहले भवन के प्रथम तल पर स्थित बारजे पर लगी वेशिन पर हाथ मुंह धुल रही थी। इसी दौरान पहले से बाहर मौजूद सफेद कार सवार तीन लोगों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी।

पहली गोली बारजे में लगते ही सरिता नीचे बैठ गयी। जिसके कारण वह बालबाल बच गई। फायरिंग के बाद कार सवार फरार हो गए, लेकिन 20 मीटर की दूरी पर स्थित पुलिस चौकी से सिपाही मौके पर नहीं पहुंच पाए और बदमाश फरार हो गए। पीड़ित ने डायल-100 पर सूचना दी तो शहर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और गोली लगे पर्दे को कब्जे में ले लिया। इस दौरान पुलिस ने मौके से गोली भी बरामद की।


पीड़िता के मुताबिक उसकी बहन और बहनोई लगातार उसका उत्पीड़न कर रहे हैं। गाजियाबाद और आजमगढ़ में स्थित भूमि पर कब्जा कर बहनोई बेचना चाहता है। पहले भी वह उसे फंसाने का प्रयास कर चुका है। सोमवार को भूमि वाद में दीवानी न्यायालय में पेशी थी। उसमें दोनों पक्ष कोर्ट में उपस्थित हुए थे। इसके बाद आज उसकी हत्या की नियत से हमला कराया गया।


इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक नगर सुभाष चंद गंगवार ने बताया कि, मौके से गोली चलने के साक्ष्य मिले हैं। मामले की जांच की जा रही है। आरोपियों के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

input रणविजय सिंह

 

Show More
ज्योति मिनी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned