प्रधान हत्याकांड: चुनावी रंजिश में हुई थी हत्‍या, चार शार्प शूटर गिरफ्तार

प्रधान हत्याकांड: चुनावी रंजिश में हुई थी हत्‍या, चार शार्प शूटर गिरफ्तार
Criminal

आरोपियों द्वारा किए गए हमले में घायल एक अन्य प्रधान कर रहा जीवन और मौत से संघर्ष

आजमगढ़. जुलाई माह में पुलिस के लिए चुनौती बनी एक प्रधान की हत्या तथा दूसरे पर किए गए जानलेवा हमले की घटना का राजफाश शुक्रवार को पुलिस ने कर दिया। जिले की स्वात टीम, सर्विलांस टीम तथा शहर और जीयनपुर कोतवाली पुलिस के संयुक्त प्रयास से दोनों प्रधानों के साथ हुई घटना में शामिल चार शार्प शूटर दबोच लिए गए। विवेचना के दौरान पकड़े गए सभी आरोपियों का नाम प्रकाश में आने पर पुलिस अधीक्षक की ओर से इन पर पांच-पांच हजार का इनाम घोषित था। पुलिस ने दोनों घटनाओं में प्रयुक्त चोरी की बाइक कंट्रीमेड पिस्टल व तमंचा और कारतूस बरामद कर लिया है। इस उपलब्धि को हासिल करने वाली पुलिस टीम को डीआईजी की ओर से 15 हजार रुपए पुरस्कार की घोषणा की गई है।
 


पुलिस लाइन सभागार में शुक्रवार को आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण नरेंद्र प्रताप सिंह ने दबोचे गए हत्यारोपियों को मीडिया के समक्ष प्रस्तुत करते हुए बताया कि गत 12 जुलाई की रात शहर कोतवाली क्षेत्र के जीयनपुर कोटरा ग्राम के प्रधान धर्मेंद्र उर्फ गुड्डू यादव को हाफिजपुर चौराहे के समीप बाइक सवार अपराधियों ने गोली मार दी। गोली से जख्मी ग्राम प्रधान की गत दिनों वाराणसी में इलाज के दौरान मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने अपराधियों को संरक्षण देने वाले एक आरोपी को दबोच लिया था जबकि हमला करने वालों की तलाश जारी थी।


यह भी पढ़ें:
 


पुलिस के लिए चुनौती बने इस घटना में शामिल अपराधियों को दबोचने के लिए पुलिस की नई टीमें गठित करने के साथ ही क्राइम ब्रांच की स्वात टीम एवं सर्विलांस टीम को भी लगाया गया था। शुक्रवार की सुबह शहर कोतवाल योगेंद्र बहादुर सिंह को सूचना मिली कि धर्मेंद्र यादव हत्याकांड में शामिल राजन उर्फ रुपेश यादव निवासी ग्राम जीयनपुर कोठरा क्षेत्र के उपकरण गांव स्थित बैंक के पास मौजूद है और कहीं भागने की फिराक में है। पुलिस तत्काल सक्रिय हुई और आरोपी को बताए गए स्थान से दबोच लिया गया। उस दौरान वह कहीं भागने की फिराक में वाहन का इंतजार कर रहा था। यह गिरफ्तारी गुरुवार की दोपहर जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के अनवारी नहर पुलिया के पास गिरफ्तार किए गए तीन अपराधियों द्वारा की गई पूछताछ के बाद हुई।
 

जिले की स्वात टीम और जीयनपुर कोतवाल संतलाल यादव के संयुक्त प्रयास से गुरुवार की दोपहर अमुवारी गांव के पास बगैर नंबर की पैशन प्रो बाइक सवार तीन अपराधियों को दबोच लिया गया। पकड़े गए आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने 32 बोर की कंट्री मेड पिस्टल दो तमंचे व कारतूस भी बरामद कर लिए गिरफ्तार आरोपियों में नागेंद्र यादव ग्राम केशवपुर, कामरान ग्राम नूरुद्दीनपुर कोतवाली क्षेत्र जीयनपुर तथा रजनीश यादव ग्राम मैगापुर थाना मुबारकपुर के निवासी बताए गए हैं। गिरफ्तार आरोपियों ने 12 जुलाई की रात ग्राम प्रधान धर्मेंद्र उर्फ गुड्डू यादव तथा 16 जुलाई की रात जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र में सोहरैया गावं के पास रौनापार क्षेत्र के सेठाकोली गांव के प्रधान रामप्रवेश चौहान को मित्र के साथ शहर से घर लौटते समय गोली मार दी थी।
 
दिल्ली के एम्स में घायल ग्राम प्रधान रामप्रवेश जीवन और मौत के बीच संघर्ष कर रहा है। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ने बताया कि दोनों प्रधानों के ऊपर हुए जानलेवा हमले में नागेंद्र यादव, कामरान तथा  सिधारी थाना क्षेत्र के लोहरही ग्राम निवासी शैलेंद्र यादव शामिल थे। जबकि हाल ही में जेल से पैरोल पर छूटा आजीवन कारावास हाल ही में जेल से पैर ऊपर छूटा आजीवन कारावास का सजाया था रजनीश यादव ने सूअरों को असलम है या कराया था।
 
उन्होंने बताया कि धर्मेंद्र उर्फ़ गुड्डू यादव पर चुनावी रंजिश तथा आशनाई के चलते गांव के ही राजन यादव के कहने पर उसके दोस्त नागेंद्र ने अपने साथियों के साथ हमला किया था। इस घटना में पूर्व में गिरफ्तार किए गए मनचोभा गांव के रुदल यादव ने हमलावरों की लिए रेकी की थी। वहीं रौनापार क्षेत्र के सेठ आकोली गांव के प्रधान रामप्रवेश चौहान पर भी इन अपराधियों ने उसके विपक्षी उमेश सुबह बृजेश यादव द्वारा दो लाख की सुपारी दिए जाने के बाद जानलेवा हमला किया था। दोनों घटनाओं में शामिल बदमाशों की गिरफ्तारी पर डीआईजी ने उपलब्धि हासिल करने वाली पुलिस टीम को 15 हजार रुपए पुरस्कार देने की घोषणा की है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned