गैस सिलेंडर में धमाके से बिल्डिंग जमींदोज, 11 घायल

-चूल्हा जलाते समय लगी आग को बुझाने पहुंचे थे दर्जनों ग्रामीण

-एएसपी, एसडीएम, थाना प्रभारी सहित मौके पर पहुंची भारी फोर्स

By: Ranvijay Singh

Published: 24 Sep 2021, 11:44 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. निजामाबाद थाना क्षेत्र के डोडोपुर गांव में शुक्रवार की शाम रसोई गैस सिलेंडर में हुए विस्फोट से मकान ध्वस्त हो गया। मकान के मलबे में दबने से 11 लोग गंभीररूप से घायल हो गए। सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस घटना की वजह तलाशने में जुटी है। पुलिस अधीक्षक यातायात सुधीर जायसवाल, एसडीएम राजीव रत्न सिंह भारी फोर्स के साथ मौके पर मौजूद हैं। वहीं पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह जिला अस्पताल पर डटे हुए हैं।

निजामाबाद थाना क्षेत्र के डोडोपुर गांव निवासी लालमन की बहू जासमीन अपनी ननद नाज के साथ भोजन बनाने के लिए किचन में गई। जैसे ही उसने गैस जलाया गैस सिलेंडर में आग लग गयी। रिसाव के कारण लगी आग को देख दोनों घबराकर बाहर की तरफ भागी और शोर मचाया।

उस समय परिवार का कोई सदस्य मौजूद नहीं था। दोनों के शोर मचाते हुए बाहर आते देख पास पड़ोस के लोग मौक पर पहुंच गए और आग लगने की जानकारी होने पर अपने-अपने तरीके से आग बुझाने में जुट गए। आग बुझाने के चक्कर में कई लोग झुलस गए।

इसके बाद भी लोगों का प्रयास जारी था। तभी सिलेंडर में तेज विस्फोट हुआ और दो कमरे का मकान पूरी तरह ध्वस्त हो गया। आग बुझाने की कोशिश में जुटे लोग मलबे में दब गए। इसके बाद पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया और घटना की सूचना पुलिस को दी गयी।

पुलिस मौके पर पहुंची तो स्थानीय लोगों की मदद से मलबा हटाया गया। हादसे में रबीरुन (40) पत्नी लालमन, फिरदौस (14) पुत्री इरशाद, बिल्लो (10) पुत्री इशाद, नाज (22) पुत्री लालमन, सैफ (16) पुत्र महसर, महसर (40) पुत्र इसराइल, सलमा (8) पुत्री कलामू, साहिल (6) फुजैल, हाकुर (27) पुत्र ढेलई आदि घायल हो गए।

पुलिस ने सभी घायलों को जिला अस्पताल भेजवाया। इसके बाद एसपी यातायात, एसडीएम सहित आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए। वहीं घायलों के जिला अस्पताल पहुंचने के बाद पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार जिला अस्पताल पहुंचे और घायलों की स्थिति के बारे में जानकारी ली। उन्होंने बताया कि हादसे में 11 लोग घायल हुए है। एडीएम प्रशासन नरेंद्र सिंह ने बताया कि मकान ध्वस्त होने से पहले सभी लोग झुलस चुके थे, जिसमें चार की हालत गंभीर है। सभी को बेहतर इलाज उपलब्ध कराना प्रशासन की प्राथमिकता है।

Show More
Ranvijay Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned