युवती पर प्रेम विवाह पड़ा भारी, पहले ससुराल वालों ने नहीं किया स्वीकार अब पति कर रहा दूसरी शादी

बिहार प्रांत की रहने वाली एक युवती के यूपी के आजमगढ़ जिले के रहने वाले युवक से प्रेम विवाह करना भारी पड़ा। पहले तो ससुराल के लोगों ने युवती को स्वीकार नहीं किया। अब युवक की दूसरी शादी करा रहे है। जानकारी होने पर ससुराल पहुंची युवती को भगा दिया गया। पीड़ित ने थाने में तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई है।

 

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. जिले के एक युवक ने बिहार प्रांत की एक युवती को प्रेम जाल में फंसाकर दिल्ली के मंदिर में शादी कर लिया। दोनों साथ रहने लगे। कुछ दिन पूर्व युवती पति के साथ ससुराल पहुंची तो परिवार के लोगों ने घर में नहीं घुसने दिया। इसके बाद युवक ने उसे मायके छोड़ दिया। अब परिवार के लोग युवक की दूसरी शादी करा रहे है। जानकारी होने पर शनिवार को ससुराल पहुंची युवती को डांटकर भगा दिया गया। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के लुचुई गांव निवासी हरिकेश दिल्ली में नौकरी करता था। वहीं बिहार प्रांत के मुजफ्फरपुर की युवती भी रहती थी। हरिकेश युवती से प्रेम करने लगा। इसके बाद दोनों ने 14 जुलाई 2019 को दिल्ली के छत्तरपुर मंदिर में शादी कर लिया। शादी के बाद दोनों पति पत्नी के रूप में साथ रहने लगे।

कुछ दिन पूर्व हरिकेश घर आने लगा तो युवती भी उसके साथ अपनी ससुराल जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के लुचुई गांव पहुंची। परिवार के लोगों को जब पता चला कि हरिकेश ने दिल्ली में शादी कर ली है तो उन्होंने युवती को बहू मामने से इनकार कर दिया और घर में प्रवेश नहीं करने दिया। घंटों मान मनौव्वल के बाद भी जब बात नहीं बनी तो हरिकेश ने पत्नी को उसके मायके पहुंचा दिया और खुद अपने घर लौट आया। इसी बीच परिवार के लोगों ने हरिकेश की दूसरे जगह शादी तय कर दी।

पति के दूसरी शादी की जानकारी होने पर युवती शनिवार की सुबह अपनी ससुराल पहुंच गई। ससुराल वालों ने उसे भगा दिया। इसके बाद उसने थाने पर तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई है। पुलिस छानबीन में जुटी हुई है। जीयनपुर कोतवाली प्रभारी का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

BY Ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned