भाकपा का गंभीर आरोप, माहामारी के आड़ में कारपोरेट घरानों को देश की संपदा सौंप रही सरकार

केंद्र व प्रदेश सरकार की नीतियों के विरोध में मंगलवार को भाकपा (माले) ने कलेक्टेªट पर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान मानव शृंखला बनाई और केंद्र सरकार पर महामारी की आड़ में देश की संपदा को पूंजीपतियों को सौंपने का आरोप लगया।

आजमगढ़. केंद्र व प्रदेश सरकार की नीतियों के विरोध में मंगलवार को भाकपा (माले) ने कलेक्टेªट पर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान मानव शृंखला बनाई और केंद्र सरकार पर महामारी की आड़ में देश की संपदा को पूंजीपतियों को सौंपने का आरोप लगया। कार्यकर्ताओं ने जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन भेज समूह की महिलाओं सहित सभी गरीबों के सभी कर्जे माफ करने, यूपीएसएसएफ जैसी काली अधिसूचना रद्द करने, रोजगार देने, मनरेगा मजदूरी पांच सौ रुपए करने आदि की मांग की।

जयप्रकाश नारायण ने कहा कि महामारी की आड़ में सरकार देश की संपदा अपने चहेते कारपोरेट घरानों को सौंपने एवं उनके कर्जे माफ करने में तत्पर दिखाई देती है, लेकिन अनियोजित लॉक डाउन और उसकी गलत नीतियों की मार झेल रहे आम आदमी के प्रति संवेदनहीन है। उन्होंने कहा कि दमनकारी नीतियों को लागू करने और जनता के अधिकारों को खत्म करने का काम भी इस महामारी के बहाने किया गया है। योगी सरकार का विशेष सुरक्षा बल बनाने का फैसला दर असल प्रदेश में आतंक का राज कायम करने की कोशिश है। हर सचेत नागरिक को इसके विरुद्ध संघर्ष में उतरना होगा।

इस अवसर पर ओमप्रकाश सिंह, सुदर्शन, बसंत, रामजीत, विनोद सिंह, राजेंद्र, बृजेश, निधि राय, हरिचरन, कामता , मुराली रामकृष्ण यादव, मैनू, कालिका, प्रकाश, चंदू, मंगल, सुमेर, हीरालाल आदि उपस्थित थे।

BY Ran vijay singh

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned