यूपी के गरीब हस्तशिल्पियों को पेंशन देगी सरकार

यूपी के गरीब हस्तशिल्पियों को  पेंशन देगी सरकार

Abhishek Srivastava | Publish: Apr, 17 2018 09:35:16 PM (IST) Azamgarh, Uttar Pradesh, India

योगी सरकार का तोहफा, हस्तशिल्पियों के बहुरेंगे दिन

 

आजमगढ़. अच्छे दिनों का सब्जबाग दिखा सन 2014 के आम चुनाव में ऐतिहासिक जीत दर्ज कर सत्ता पर काबिज हुए नरेंद्र मोदी की सरकार के अंतिम वर्ष में हस्तशिल्पियों के अच्छे दिन आने की उम्मीद बढ़ी है। एक तरफ जहां सरकार हस्तशिल्प को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न योजनाओं का संचालन कर रही है, वहीं दूसरी तरफ हस्तशिल्पियों के जीवन स्तर व उनकी आर्थिक स्थिति मे सुधार लाने के लिए ‘‘मुख्यमंत्री हस्तशिल्प पेंशन योजना’’ को नए कलेवर मे लागू किया है। इस योजना का लाभ साठ साल या उससे अधिक के हस्तशिल्पियों को मिलेगा। कोई भी पात्र इसके लिए आवेदन कर सकता है।

जिलाधिकारी शिवकांत द्विवेदी ने बताया कि पात्र शिल्पकार वांछित प्रपत्रों के साथ निर्धारित प्रारूप पर अपना आवेदन उपायुक्त उद्योग, जिला उद्योग एवं प्रोत्साहन केन्द्र आजमगढ़ कार्यालय में जमा कर सकते हैं। ताकि आवेदन को अन्तिम रूप से चयन हेतु विकास आयुक्त हस्तशिल्प उद्योग निदेशालय, कानपुर को प्रेषित किया जा सके। आवेदन पत्र का प्रारूप उद्योग कार्यालय मे उपलब्ध है। मुख्यमंत्री हस्तशिल्प पेंशन योजना में पुरूष हस्तशिल्पी की उम्र कम से कम 60 वर्ष एवं महिला हेतु 55 वर्ष निर्धारित है। अभ्यर्थी जनपद का स्थाई निवासी होना चाहिए। आवेदक के पास हस्तशिल्प पहचान पत्र होना अनिवार्य है तथा आवेदन के साथ फोटो प्रमाणित, आय प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र की छाया प्रति, 10 रूपये के स्टाम्प पर शपथ पत्र, हस्तशिल्प पहचान पत्र की छाया प्रति तथा बैंक पासबुक की छाया प्रति संलग्न करना अनिवार्य है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हस्तशिल्प उद्योग और इस उद्योग में कार्यरत हस्तशिल्पियों की बेहतरी के लिए प्रतिबद्धता व्यक्त करते रहे हैं। ऐसे में, जबकि लोकसभा चुनाव काफी करीब हैं और सूबे की दो सीटों पर हुए उपचुनाव में भाजपा को मात मिल चुकी है, सरकार के इस तोहफे को चुनाव की तैयारी से जोड़ कर देखा जा रहा है।


हस्तशिल्पियों ने किया स्वागत

सरकार की पहल का हस्तशिल्पियों ने स्वागत किया है। हस्तशिल्पियों ने कहा कि सरकारी पेंशन बुढ़ापे के लिए बड़ा सहारा सिद्ध होगी।

 

By: Ran Vijay Singh

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned