यहां परिंदा भी नहीं मार पाएगा पर, अर्द्धसैनिक बलों के हवाले होंगे संवेदनशील बूथ

यहां परिंदा भी नहीं मार पाएगा पर, अर्द्धसैनिक बलों के हवाले होंगे संवेदनशील बूथ
यहां परिंदा भी नहीं मार पाएगा पर, अर्द्धसैनिक बलों के हवाले होंगे संवेदनशील बूथ

Ashish Kumar Shukla | Publish: May, 10 2019 08:32:11 PM (IST) Azamgarh, Azamgarh, Uttar Pradesh, India

संवेदनशील बूथों की जिम्मेदारी अर्द्धसैनिक बलों के हवाले कर दिया गया है

आजमगढ़. जिले के दो लोकसभा क्षेत्रों में चुनाव को सकुशल संपन्न कराने के लिए 19 हजार पुलिस फोर्स के साथ ही 40 कंपनी केंद्रीय बल व अर्द्धसैनिक बलों के साथ ही आठ कंपनी पीएसी जिले में तैनात कर दिए गए हैं। संवेदनशील बूथों की जिम्मेदारी अर्द्धसैनिक बलों के हवाले कर दिया गया है।

एसपी प्रो. त्रिवेणी सिंह ने बताया कि निर्वाचन आयोग व शासन स्तर से इस बार लोकसभा चुनाव को लेकर जिले में काफी पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बल उपलब्ध करा दिए गए हैं। ग्यारह जिलों से 9 हजार सशस्त्र आरक्षी, 9 हजार 3 सौ होमगार्ड के जवान, 52 इंस्पेक्टर, 500 सब इंस्पेक्टर, 20 महिला सब इंस्पेक्टर, 400 सौ महिला आरक्षी की बूथों पर ड्यूटी लगायी गयी है। इसी प्रकार से 40 कंपनी अर्द्धसैनिक बल के साथ ही केंद्रीय बल भी मतदान केंद्रों पर तैनात किए जा रहे हैं। इनमें छह कंपनी बीएसएफ, आठ कंपनी सीएपीएफ (केंद्रीय सशस्त्र बल), 10 कंपनी सीआरपीएफ, 4 कंपनी आरपीएफ, 3 कंपनी सीआईएसएफ, 5 कंपनी उत्तराखंड आर्म्स फोर्स, 4 कंपनी पश्चिम बंगाल आर्म्स फोर्स, 5 कंपनी एसएपी (स्टेट आर्म्स फोर्स) मिले हैं। जिले के संवेदनशील क्षेत्रों व मतदेय स्थलों की सुरक्षा की कमान अर्द्धसैनिक बलों के हवाले कर दिया गया है। इसके अलावा ग्राम चौकीदार व थाने के पुलिस मित्रों को भी लगाया गया है।

लोकसभा चुनाव की सुरक्षा के लिए जिले के दोनों लोकसभा क्षेत्रों में मतदान के दिन पुलिस फोर्स की 588 मोबाइल दस्ता भी क्षेत्रों में भ्रमणशील रहेगी। सीओ सदर मोहम्मद अकमल खान ने बताया कि गठित किए गए मोबाइल दस्ता में 120 फ्लाइंग स्कोर्ट, 30 स्टेटिक सर्विलांस, 280 सेक्टर मोबाइल पार्टी, 40 जोन मोबाइल पार्टी, 10 विधान सभा प्रभारी मोबाइल दस्ता, सौ थानों की चार-चार मोबाइल दस्ता भी क्षेत्र में भ्रमणशील रहकर चुनाव की गतिविधियों व अराजकतत्वों पर नजर रखेगी।

उन्होंन बताया कि लोकसभा चुनाव को लेकर जिले व थानों की सभी सीमाओं को मतदान से चौबीस घंटे पूर्व ही सील कर दी गयी है। अराजकतत्वों व उपद्रवियों पर कार्रवाई के लिए जिले में 115 स्थानों पर बैरियर लगा दिए गए हैं। जिनमें जिले के सीमावर्ती क्षेत्रों पर 37 व जिले के आंतरिक क्षेत्रों में 78 बैरियरल लगाकर नाकेबंदी कर दी गयी है। बैरियरों पर पुलिस की तैनाती के साथ ही संदिग्धों की भी चेकिग शुरू करा दी गयी है।

लोकसभा चुनाव को प्रभावी करने वाले छह हजार लोगों को पुलिस की ओर से चिन्हित कराया गया है। चिन्हित कराए गए लोगों को पुलिस अधिकारियों ने अपने स्तर से गुरुवार को ही नोटिस जारी कर दी है। जारी किए गए नोटिस सभी को भेज दिया गया है। एसपी ग्रामीण एनपी सिंह ने बताया कि चुनाव को प्रभावित करने वाले ऐसे लोगों को जो दूसरे जनपदों से यहां आए हुए हैं, उन्हें 36 घंटा पूर्व ही जिला की सीमा छोड़ने का निर्देश दिया गया है। चुनाव प्रचार का शोर थमते ही शुक्रवार की शाम से पुलिस ने होटलों, ढाबों की चेकिग शुरू करा दी है। एसपी ग्रामीण ने कहा कि नोटिस के बाद भी बाहरी लोग चेकिग में जिले के अंदर पाए गए तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned