बलूचिस्तान के संसाधनों का दोहन कर रहा पाकिस्तान, हिन्द-बलोच फोरम संयोजक गोविन्द शर्मा का दावा

Rafatuddin Faridi

Publish: Sep, 17 2017 09:22:20 (IST)

Azamgarh, Uttar Pradesh, India
बलूचिस्तान के संसाधनों का दोहन कर रहा पाकिस्तान, हिन्द-बलोच फोरम संयोजक गोविन्द शर्मा का दावा

आजमगढ़ में होगा बलूचिस्तान और जम्मू कश्मीर में हिंसा पर सेमिनार, तेजी से हो रही हैं तैयारियां।
हिन्द-बलोच फोरम की ओर से

आजमगढ़. हिन्द बलोच फोरम की ओर से पाकिस्तान द्वारा बलूचिस्तान और जम्मू कश्मीर में प्रायोजित हिंसा पर आजमगढ़ में एक बड़ा सेमिनार होगा। सेमिनार की तैयारियों के मद्देनजर रविवार को हिन्द बलोच फोरम के अंतर्राष्ट्रीय संयोजक गोविन्द शर्मा व राष्ट्रीय संयोजक विनय ने कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने नगर के मिशन हास्पिटल के सभागार में पत्रकारों से इसके बारे में विस्तार से बात की।


हिन्द बलोच फोरम के अंतर्राष्ट्रीय संयोजक गोविन्द शर्मा ने बताया कि आजमगढ़ में आगामी चार अक्टूबर को हिन्द बलोच फोरम की ओर से आंतकी राज्य पाकिस्तान द्वारा बलोच और जम्मू कश्मीर में प्रायोजित हिंसा विषय पर एक अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार आयोजित किया जाना है। इस सेमिनार को फोरम के संरक्षक स्वामी दंडी स्वामी जितेंद्रानंद सरस्वती व अध्यक्ष विख्यात ज्योतिष गुरू पवन सिन्हा, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य इन्देश कुमार, पाकिस्तान आज चैनल के भारत के प्रभारी पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ, पूर्व रॉ चीफ आरएसएन सिंह व बलोच नेतागण सम्बोधित करेंगे।


उन्होंने आगे बताया कि बलूचिस्तान एक आजाद मुल्क था, जिस पर पाकिस्तान ने 1948 में जबरदस्ती कब्जा कर लिया। आज बलूचिस्तान के संसाधनों का पूरा दोहन पाकिस्तान के लोग कर रहे है और वहां के लोगों पर अत्याचार किया जा रहा है। यहां तक की पाकिस्तान अब चाइना के साथ मिलकर बलूचिस्तान के संसाधनों का दोहन कर रहा हैं। रोज 16 किलो सोना बलूचिस्तान से चीन निकालकर ले जाता है। बलूचिस्तान के भाईयों पर हो रहे अत्याचार पर पूरे विश्व का ध्यान तब गया जब प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले की प्राचीर से बलूचिस्तान की आजादी का प्रश्न उठाया। भारत के लोगों के नैतिक आधार पर बलूचिस्तान की आजादी का समर्थन करना चाहिए जिस तरह से पाकिस्तान बलूचिस्तान में अत्याचार कर रहा है उसी प्रकार से जम्मू कश्मीर में भी आंतकी घटनाओं को अंजाम दे रहा है!

 

बलूचिस्तान से हमारे सांस्कृतिक सम्बन्ध हैं वहां हमारे हिंगलाज देवी का मंदिर है जो 52 शक्तिपीठ में से एक है। बलूचिस्तान के नेता कहते हैं अगर बलूचिस्तान आजाद होता है तो हिन्दू भाईयों को हिंगलाज देवी के दर्शन के लिए किसी वीजा की आवश्यकता नहीं होगी। बलूच के राष्ट्रीय संयोजक विनय ने बताया कि हिन्द बलोच फोरम पूरे दुनिया में बलूचिस्तान की आजादी का आंदोलन चला रहा है।

 

इसी क्रम में आजमगढ़ में भी हम एक सेमिनार आयोजित कर रहे हैं। हमें बलूचिस्तान के आंदोलन का नैतिक व सांस्कृतिक आधार पर समर्थन करना चाहिए क्योंकि हम सांस्कृतिक रूप से एक है। जिस तरह से हम पाक प्रायोजित आतंकवाद के शिकार है उसी प्रकार बलूचिस्तान भी है। इस मौके पर सेमिनार से सम्बन्धित पोस्टर का भी विमोचन किया गया। प्रेसवार्ता के दौरान रामकृपाल उपाध्याय, अशोक सिंह, ब्रजेश यादव, निखिल राय, मनीष सिंह, कमलेन्द्र मिश्र मोनू, वरूण राय, प्रिंस राय, नीरज तिवारी, शक्ति राय, विकास मिश्र सहित आदि मौजूद रहे।

by  RAN VIJAY SINGH

 

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned