गरीबों में चूड़ा रेवड़ी बांट हियुवा ने मनाई मकर संक्रान्ति

Ashish Shukla

Publish: Jan, 14 2018 08:20:15 PM (IST)

Azamgarh, Uttar Pradesh, India
गरीबों में चूड़ा रेवड़ी बांट हियुवा ने मनाई मकर संक्रान्ति

गोरक्ष धाम का पवित्र त्यौहार है खिचड़ी

आजमगढ़. हिन्दू युवा वाहिनी आजमगढ़ के पूर्व अध्यक्ष संयोजक हरिवंश मिश्र के साथ संगठन कार्यकर्ताओं ने गोरक्ष धाम का पवित्र त्यौहार खिचड़ी के पर्व पर मकर संक्रान्ति के सुअवसर पर कलेक्ट्रेट स्थित चैराहे पर गरीबों में लाई, चूड़ा व रेवडी वितरित कर पूरे हर्षोल्लास के साथ त्यौहार मनाया गया। स्थानीय लोगों ने इस कार्य की जमकर प्रशंसा की।

हरिवंश मिश्रा ने कहा कि पूरा भारत का हर तबका जहां खिचड़ी भोज मना रहा है वहीं हम लोगों ने गरीबों में लाई, चूड़ा व दाना बांटकर खिचड़ी पर्व को पूरे हर्षोल्लास के साथ मना रहे है। आगे उन्होने बताया कि यह पर्व हर साल 14 जनवरी को मनाया जाता है। हिंदू पंचाग के अनुसार माना जाता है कि जब सूर्य एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करता है तब संक्रांति होती है। हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार पर्व और त्योहार चंद्र पंचांग यानी चंद्रमा की गति और उसकी कलाओं पर आधारित है।

इस मौके पर सूर्य प्रकाश यादव, रामसकल चैहान, विपिन राय, सौरभ गुप्ता, राकेश सिंह, राहुल यादव, रूद्र प्रताप पाण्डेय, अजय मौर्या, वृक्ष मौर्या, राजेश पाण्डेय, राहुल मिश्रा आदि लोग मौजूद रहे।

 

जलसे में खुदा के बताये रास्ते पर चलने की दी गयी नसीहत

नगर के मोहल्ला बाज बहादुर कोट राजा का किला स्थित मास्टर जुबैर के आवास पर जलसे के कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जलसे का शुभारम्भ तिलावते कलाम पाक से हुई।

जलसे को सम्बोधित करते हुए मौलाना सेराज अहमद मिस्बाही लंगरपुरी ने कहा कि अल्लाह ने अम्बिया इकराम के बाद औलिया इकराम को वह ताकत अदा की है, जिन्होने पैगम्बर दो आलम की सुन्नतों पर अमल करके इस्लाम को अजमत अता की। उनकी जिंदगी ऐसी थी जिसमें तकवा, पाकीजिगी और नाफरमानी ख्वायिसात से पूरी उनकी जिंदगी में शामिल था। यहीं वजह है कि उन्होने हमेशा अल्लाह का कुर्ब हासिल किया तो इबादतों के जरिये से और ये इबादत है। ये ऐसी चींज थी जिसमें उनको जनता की सफों में मुमताज और आला मुकाम अता किया। ये आज भी अपनी कब्रों में जिंदा है और इनके रासकीकात जारी है। इनके बारगाह को तलत करने वाले आज भी फैजियात किये जाते है। हैदर अली मजनूपुर ने नातिया कलाम पेश किया। इस मौके पर कादी अहमद रजां, कादी अली अफसर, हाफिज शमशाद, मोहम्मद अजीम आदि लोग मौजूद रहे। संचालन मो अजीम ने किया।

 

पौधरोपण कर डीएम ने की तमसा अभियान-2018 की शुरूआत

तमसा नदी अभियान के अन्तर्गत वृक्षारोपण 2018 का शुभारम्भ मकर संक्रान्ति के अवसर पर जिलाधिकारी श्री चन्द्रभूषण सिंह ने रविवार को बाबा भंवरनाथ मंदिर के पास पोखरे पर पौधरोपण करके किया। साथ ही भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष श्री प्रेम प्रकाश राय, प्रदेश कार्य समिति सदस्य श्री अखिलेश मिंश्र उर्फ गुड्डू मिश्र ने भी पौधरोपण किया।

समन्वयक सुनील राय ने बताया कि जिलाधिकारी महोदय ने पोखरे का निरीक्षण करते हुए जीर्णोद्धार करने के साथ पिकनिक स्पॉट बनाने तथा स्मृति वन के रूप में विकसित करने के लिए एसडीएम सदर को ग्राम सभा की भूमि का सीमांकन करने और आवश्यक कार्यवाही का निर्देश दिया। श्री राय ने बताया कि स्थानीय लोगों ने अपने परिवार के दिवगंत लोगों के स्मृति में पौधरोपण किया।

जिसमें प्रमुख रूप से चंडिका नन्दन सिंह उर्फ मुन्ना बाबू, डा श्याम नरायन सिंह, राकेश सिंह, शिक्षक नेता शैलेष राय, प्रमोद सिंह एडवोकेट, शिवलाल यादव, प्रमोद राय, नवीन चन्द्र अस्थाना एडवोकेट व मनोज राय आदि प्रमुख लोगों ने वृक्षारोपण किया। श्री राय आगे बताया कि यह वृक्षारोपण अभियान तमसा नदी को बचाने हेतु लोगों को पर्यावरण से जोड़ने के लिए विगत वर्ष से चलाया जा रहा है।

नदी के किनारे से एक किलो मीटर की दूरी तक सार्वजनिक भूमि तथा किसानों को फलदार पेड़ लगाने हेतु प्रेरित किया जायेगा। इस अभियान में भारी संख्या में लोग बढ़ चढकर हिस्सा ले रहे और इस अभियान में पिछले वर्ष लग भग 250 पेड़ ट्री गार्ड सहित लोगों के सहयोग से लगाया जा चुका है। इस वर्ष एक हजार पौधे लगाने की योजना है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned