अगर हो रहा है उत्पीड़न तो महिला आयोग से घर बैठे इस तरह शिकायत करें महिलाएं

पुलिस लाइन में जन सुनवाई का आयोजन कर सुनी गयी महिलाओं की समस्या

आयोग की सदस्य संगीता तिवारी ने अधिकारियों को दिया समस्याओं के त्वरित निस्तारण का निर्देश

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. राज्य महिला आयोग की सदस्य संगीता तिवारी की अध्यक्षता में बुधवार को पुलिस लाइन के सभागार में महिला उत्पीड़न के रोकथाम एवं पीड़ित महिलाओं को त्वरित न्याय दिलाये के लिए जन सुनवाई का आयोजन किया गया। इसमें महिलाओं की समस्याओं को सुनने के बाद तत्काल निस्तारण का निर्देश दिया गया। महिला उत्पीड़न की घटनाओं को रोकने व महिला हिंसा के खिलाफ त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिये गए। इस दौरान महिलाओं को दो ह्वाट्सएप नंबर बताये गए जिसपर वे अपनी शिकायत सीधे दर्ज करा सकती हैं।

इस दौरान 13 महिला फरियादियों ने प्रार्थना पत्र देकर अपनी समस्या बतायी। लालगंज की उर्मिला यादव ने बताया कि तीन लोग जो फाइनेन्स का कार्य करते हैं। प्रलोभन देकर मुझसे पैसा लिये और उसी में से मुझे ब्याज देने लगे। बाद में पता चला कि उनके द्वारा धोखाधड़ी की गयी है। अजमतगढ़ कोडर की वन्दना देवी बताया कि धर्मेन्द्र यादव निवासी फूलपुर उसके मकान में 2010 से रहता था। उसने नौकरी के नाम पर 3 लाख 80 हजार रूपया लिया लेकिन न तो नौकरी दिलाई और ना ही पैसा दिया। इसी तरह अन्य महिलाओं द्वारा अपनी शिकायत दर्ज करायी गयी। संगीता तिवारी ने जिला प्रोवेशन अधिकारी को सभी मामलों का त्वरित निस्तारण करने का निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि कोई भी पीड़ित महिला राज्य महिला आयोग के ह्वाट्सएप नम्बर 6306511708 पर अपना शिकायती पत्र आधार के साथ भेज सकती है। शिकायतों का त्वरित निस्तारण कराया जाएगा। यह नंबर पूर्वाह्न 10 बजे से सायं 5 बजे तक सक्रिय रहेगा। इसके अलावा इस मोबाइल नम्बर 7839930410 पर भी कोई भी पीड़ित महिला शिकायत पत्र के साथ आधार कार्ड भेज सकती है। कार्यक्रम के बाद संगीता तिवारी ने जिला महिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया। अस्पताल में भर्ती महिलाओं से बातचीत की। अस्पताल में समय से दवा और भोजन न मिलने की शिकायत पर महिला कल्याण विभाग की अधिकारियों को निर्देश दिये कि महिलाओं से संबंधित जो भी जन कल्याणकारी योजनाएं संचालित हैं, उन्हें उसका लाभ दिलायें।

इस दौरान सीओ सिटी राजेश तिवारी, प्रशिक्षु पुलिस उपाधीक्षक राजेश, महिला थाना इंचार्ज खुशबू त्रिपाठी, जिला प्रोबेशन अधिकारी बीएल यादव, जिला कार्यक्रम अधिकारी मनोज कुमार मौर्य, जिला महिला अस्पताल की प्रभारी सीएमएस डाॅ. अमिता अग्रवाल, महिला कल्याण अधिकारी प्रिति उपाध्याय, वन स्टाॅप मैनेजर सरिता पाल, केस वर्कर ममता यादव, रंजना मिश्रा आदि मौजूद थी।

BY Ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned