कोरोना संक्रमण से टूटी सैकड़ों साल पुरानी परंपरा, नहीं निकली रथयात्रा

इस बार महामारी के चलते सगड़ी के कठैचा कुटी पर हर साल लगने वाला रथयात्रा मेला इस बार नहीं लगा और न ही झांकी निकाली गई।

By: Neeraj Patel

Published: 24 Jun 2020, 06:58 PM IST

आजमगढ़. कोरोना संक्रमण के चलते आजमगढ़ में सैकड़ों वर्ष पुरानी परंपरा टूट गई। इस बार महामारी के चलते सगड़ी के कठैचा कुटी पर हर साल लगने वाला रथयात्रा मेला इस बार नहीं लगा और न ही झांकी निकाली गई। इसके चलते श्रद्धालुओं मायूस नजर आ रहे हैं।

बता दें कि सगड़ी तहसील क्षेत्र की कठैचा कुटी लाखों लोगों के आस्था का केंद्र हैं। प्रति वर्ष यहां असाढ़ माह की शुक्ल पक्ष के द्वितिया के दिन रथ यात्रा मेले का आयोजन होता रहा है। यह परंपरा सैकड़ों वर्षो से चली आ रहा है। इस बार भी रथयात्रा मेला की तैयारी की गयी थी। रथयात्रा मेले में भगवान श्रीराम, बलराम की आकर्षक झांकी निकाली जाती है। मेले में दूर दराज से दुकानदार आते हैं और हजारों की संख्या में लोग इसमें शामिल होते रहे हैं।

कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार आयोजन समिति ने मेला व रथ यात्रा को स्थगित कर दिया है। कुछ दुकानदार दुकान लेकर मेला स्थल पर पहुंचे थे लेकिन पुलिस ने उन्हें लौटा दिया। रथयात्रा के आयोजन मंडल में शामिल सुभाष मिश्र, नीरज मिश्र, संदीप मिश्र, विवेकानंद मिश्र आदि का कहना है कि यह वर्षों पुरानी परंपरा है। इसके टूटने से हम निराश है लेकिन महामारी के दौर में लोगों की जिंदगी भी खतरे में नहीं डाली जा सकती है। इसलिए रथयात्रा को कैंसिल करने का फैसला किया गया है।

Corona virus Corona Virus Precautions
Show More
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned