scriptIf you want to keep liver safe then follow advice of doctors | World Liver Day 2022: लीवर को रखना है सुरक्षित तो चिकित्सकों की इस सलाह पर जरूर करें अमल | Patrika News

World Liver Day 2022: लीवर को रखना है सुरक्षित तो चिकित्सकों की इस सलाह पर जरूर करें अमल

लीवर मानव शरीर का महत्वपूर्ण अंग है। स्वस्थ्य जीवन के लिए इसे सुुरक्षित रखना बेदह आवश्यक है। आज लीवर संबंधी समस्याएं तेजी से बढ़ रही है। खासतौर पर लीवर कैंसर का खतरा लगातार बढ़ रहा है। चिकित्सकों का मानना है कि यदि हम दिनचर्या को बेहतर बनाएं और कुछ सावधानियां बरतें तो हम न केवल लीवर को सुरक्षित रख सकते हैं बल्कि स्वस्थ्य जीवन जी सकते हैं।

आजमगढ़

Published: April 19, 2022 02:25:27 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. स्वस्थ्य जीवन में लीवर का महत्वपूर्ण योगदान है। क्यों कि यह मानव शरीर का बेहद अहम और संवेदनशील अंग होता है। यह शरीर से विशैले पदार्थों को बाहर निकालने, खून को फिल्टर करना तथा हार्माेन को बनाने के साथ-साथ एनर्जी बढ़ाने का काम भी करता है। बदलती जीवनशैली, खानपान, मोटापा, क्लोरीन युक्त पानी का सेवन समेत तमाम कारणों से लोगों का लिवर कम उम्र में ही खराब होने लगा है। वहीं शराब के बढ़ते प्रचलन और इसके अधिक सेवन के कारण लोग के कारण भी लीवर खराब होने की समस्या बढ़ रही है। यहीं नहीं हेपेटाइटिस ए, बी व सी का संक्रमण लिवर पर सबसे बुरा असर डाल रहा है। यह कुछ ही समय में लीवर को डैमेज कर देता है। चिकित्सकों का मानना है कि यदि खानपान बेहतर रखा जाय और थोड़ी सी सावधानी बरती जाय तो लीवर से बचाया जा सकता है।

प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटो

जिला महिला अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक डा. विनय कुमार सिंह यादव का कहना है कि स्वस्थ्य जीवन जीने के लिए लीवर को सुरक्षित रखना आवश्यक है। इसलिए सेहत का हमेशा ध्यान रखना चाहिए। शरीर में होने वाले बदलाव हमें लिवर में समस्या का संकेत देने लगते हैं। इसके कारणों की बात करें तो अनुवांशिक, गलत जीवनशैली व खानपान, एल्कोहल व तंबाकू का अधिक सेवन, अधिक कालेस्ट्राल वाला आहार व हेपेटाइटिस संक्रमण लीवर को डैमेज करने का मुख्य कारक हैं।

उन्होंने बताया कि स्वस्थ रहने के लिए अच्छी नींद जरूरी है। नींद पूरी न होने पर मेटाबालिज्म पर असर पड़ता है। इससे लीवर से जुड़े रोगों का खतरा बढ़ता है। फैटी लिवर की समस्या आम हो गई है। हेपेटाइटिस ए, बी या सी इंफेक्शन से लिवर की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। दूषित पेयजल, संक्रमित ब्लड, इंजेक्शन, लार या संक्रमित व्यक्ति के साथ असुरक्षित यौन संबंध आदि हेपेटाइटिस का प्रमुख कारण हे। हेपेटाइटिस बी व सी के 24 से 40 प्रतिशत तक पुराने मामले लीवर कैंसर में बदल जाते हैं। यह दो प्रकार होते हैं प्राइमरी और सेकंेंड्री। हेपेटाइटिस बी से बचाव के लिए अब टीका उपलब्ध है, जो सरकारी केंद्रों पर बच्चों को निःशुल्क लगाता है। बाजार में भी काफी सस्ता है।

उन्होंने बताया कि पाचन तंत्र की खराबी में हमारे आहार की अहम भूमिका होती है। फास्ट फूड, जंक फूड और अधिक चिकनाई व गरिष्ठ भोजन से शरीर में चर्बी जमा होने लगती है। इसका पहला प्रभाव लीवर पर पड़ता है और आंतों में सूजन आ जाती है। धीरे-धीरे इससे पीलिया की समस्या होती है, जो लिवर का प्रारंभिक संक्रमण है। इसलिए ऐसे भोजन का सीमित मात्रा में ही सेवन करें। भोजन में सुपाच्य और पौष्टिक आहार को प्राथमिकता दें। फल व सब्जियों में प्रचूर मात्रा में विटामिंस, फाइबर व अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं। ये शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाते हैं। इस लिए मौसमी फल का सेवन करें।

इसके अलावा शारीरिक निष्क्रियता और तैलीय भोजन का अधिक सेवन से वनज तेजी से बढ़ता है। मोटापा फैटी लिवर के साथ ही हृदय की बीमारियां, डायबिटीज, रक्तचाप, आस्टियोपोरोसिस समेत कई समस्याओं का कारण बनता है। इसलिए वजन नियंत्रित रखना आवश्यक है। शरीर के लिए भोजन जरूरी है और भोजन से आवश्यक तत्व शरीर को मिलें इसके लिए ठीक से इसका पाचन होना चाहिए। इसलिए सुबह टहलना या व्यायाम करना आवश्यक है। व्यायाम से कैलोरी बर्न होगी और शरीर में चर्बी का जमाव नहीं होगा। अतिरिक्त चर्बी शरीर के हर अंग पर दुष्प्रभाव डालती है।

लीवर की बीमारी के लक्षण--
-त्वचा और आंखों में पीलापन।
-पेढ़ू में दर्द रहना या सूजन।
-टखनों के पास और पैरों में सूजन।
-त्वचा पर खुजली।
-पेशाब में गहरा पीलापन।
-मल का रंग गहरा होना।
-मल से खून आना या टार की तरह होना।
-जल्दी थकान महसूस होना
-उल्टी आना, पाचन-तंत्र में गड़बड़ी होना।

लीवर को सुरक्षित रखने का तरीका
-स्वच्छ पानी पीएं, दूषित जल को उबालकर ठंडा करके पीएं।
-ब्लेड, रेजर या टूथब्रश एक-दूसरे से शेयर न करें।
-गर्भवती महिलाओं को हेपेटाइटिस बी और सी की जांच कराएं।
-खुले जख्म को दस्तानों के बिना न छुएं।
-संक्रमित सूईं से बचाव।
-शराब के सेवन से परहेज करें।
-योग-व्यायाम करके वजन को नियंत्रित रखें।
-किसी भी प्रकार का संक्रमण होने पर डाक्टर से संपर्क करें।
-जंक-फूड का सेवन कम करें।
-चिकनाई व मसालेदार भोजन कम खाएं।
-हाई फाइबर युक्त आहार लें।
-खाने में हरी पत्तेदार सब्जियां, ब्रॉकली, गोभी, गाजर वगैरह शामिल करें।

इन चीजों का जरूर करें उपयोग--
-दही व मट्ठे का सेवन करें। इससे पाचन तंत्र सक्रिय रहेगा
-पानी की स्वच्छता का विशेष खयाल रखें।
-गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर नियमित पिएं।
-नियमित पालक के जूस या सब्जी का सेवन करें। यह लिवर सिरोसिस में बहुत फायदेमंद है।
-पर्याप्त पानी पिएं, जिससे शरीर में इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बना रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंशिक्षा मंत्री की बेटी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिए बर्खास्त करने के निर्देश, लौटाना होगा 41 महीने का वेतनHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करारInflation Around World : महंगाई की मार, भारत से ज्यादा ब्रिटेन और अमरीका हैं लाचारपंजाब में दिल्ली का विकास मॉडल, CM भगवंत मान का ऐलान- 15 अगस्त को राज्य को मिलेंगे 75 नए मोहल्ला क्लीनिकराहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा - 'पैंगोंग झील के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सरकार सिर्फ निगरानी ही कर रही है'दो साल बाद अपनों के बीच पहुंचते ही आजम खान ने बयां किया दर्द, बोले- मेरे साथ जो-जो हुआ वो भूल नहीं सकतापहली बार Yogi आदित्यनाथ की तारीफ में बोले अखिलेश यादव 'यूपी में Technology'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.