आजमगढ़ में शराब कारोबार का भांडाफोड़, रामानंद समेत दो कारोबारी गिरफ्तार

आजमगढ़ में शराब कारोबार का भांडाफोड़, रामानंद समेत दो कारोबारी गिरफ्तार

Rafatuddin Faridi | Publish: Jan, 14 2018 06:28:16 PM (IST) Azamgarh, Uttar Pradesh, India

आजमगढ़ में शराब कारोबार का भंडाफोड़, दो कारोबारी गिरफ्तार।

आजमगढ़. तरवां थाने की पुलिस ने क्षेत्र के नदवां गांव में छापेमारी कर शराब के अवैध कारोबार का भंडाफोड़ करते हुए एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया। वहीं रौनापार पर थाने की पुलिस ने भी एक शराब कारोबारी को धर दबोचा। दोनों जगहों से पुलिस ने शराब व नकली शराब बनाने में प्रयुक्त सामान बरामद किया है।


तरवां थानाध्यक्ष कृष्ण मोहन सिंह ने मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर शुक्रवार की देररात क्षेत्र के नदवां गांव में संचालित शराब की अवैध फैक्ट्री पर छापेमारी की। इस दौरान पुलिस ने स्थानीय निवासी रामानंद सिंह को धरदबोचा। मौके पर मौजूद स्विफ्ट डिजायर कार की तलाशी के बाद पुलिस ने वाहन में रखी 45 शीशी नकली शराब, छह हजार ढक्कन, रैपर, होलोग्राम तथा एक जरीकेन में रखी दस लीटर अप मिश्रित शराब बरामद किया।

 

इस मामले में पुलिस ने गिरफ्तार किए गए आरोपी के साथ ही इस काले कारोबार में लिप्त इसी गांव के पंकज सिंह , उसके पिता कैलाश सिंह, माता पुष्पा सिंह तथा पुत्र सन्नी सिंह के खिलाफ भी सुसंगत धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज किया है। इसी क्रम में रौनापार थाने की पुलिस ने शनिवार की रात खेतापुर ग्राम निवासी दयाराम यादव को पांच लीटर देशी शराब के साथ गिरफ्तार किया। आरोपी के खिलाफ आबकारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है।


धोखाधड़ी के दो मामलों में महिला सहित आठ नामजद
जीयनपुर कोतवाली व तरवां थाने में शनिवार को भूमि संबंधी जालसाजी के दो मामलों में महिला सहित आठ लोगों के खिलाफ पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। महाराजगंज थाना क्षेत्र के अराजी अमानी ग्राम निवासी झूसी पुत्र खेलावन का आरोप है कि उसके गांव के राहुल, अमरनाथ , ठाकुर प्रसाद, उदयभान तथा संजय ने फर्जी तरीके से पीड़ित की जमीन का बैनामा करा लिया। पूछताछ करने पर आरोपियों ने उसे जान-माल की धमकी दी।

 

मामला सगड़ी तहसील का होने के कारण जीयनपुर कोतवाली में आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज की गई है। इसी क्रम में तरवां थाना क्षेत्र के कम्हरिया ग्राम निवासी ओमप्रकाश पुत्र श्यामलाल का आरोप है कि गत वर्ष 27 जनवरी को गांव के ही संतोष गुप्ता, विनोद गुप्ता व उसकी मां चंद्रावती देवी पत्नी शंकर गुप्ता ने फर्जी तरीके से पीड़ित की जमीन को दूसरे के नाम बैनामा कर दिया। इस मामले में कोर्ट के आदेश पर पीड़ित पक्ष द्वारा आरोपित की गई महिला व उसके दो पुत्रों के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज की गई है।
by Ran Vijay Singh

Ad Block is Banned