दलित ग्राम प्रधान सत्यमेव राम जयते का हत्यारा मुठभेड़ में ढेर, पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी

- मुठभेड़ के दौरान फायरिंग में स्वाट टीम प्रभारी और एक आरक्षी भी घायल

By: Neeraj Patel

Published: 27 Nov 2020, 02:03 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. जिले के तरवां के बांसगांव गांव में दलित ग्राम प्रधान सत्यमेव राम जयते की हत्या के मुख्य आरोपी सूर्यांश दुबे को पुलिस ने मुठभेड़ मार गिराया। मुठभेड़ के दौरान बदमाश द्वारा की गई फायरिंग में स्वाट टीम प्रभारी और एक आरक्षी भी घायल हो गए। जिन्हें उपचार के लिए निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। मृत बदमाश के खिलाफ आजमगढ़ ही नहीं पूर्वांचल के कई जिलों में आपराधिक मुकदमें दर्ज हैं।

दलित ग्राम प्रधान की हत्या के बाद जब यूपी की राजनीति तेज हुई तो उसके खिलाफ एडीजी ने एक लाख और शासन ने दो लाख रूपए का ईनाम घोषित कर दिया। पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि स्वाट टीम की सूचना के बाद स्वाट और कई थानों की पुलिस फोर्स ने तीन लाख के ईनामी बदमाश की घेराबंदी की। जिसके बाद उसने पुलिस पर फायरिंग की। जबावी फायरिंग में बदमाश सूर्यांश यादव ढेर हो गया। उसके ऊपर कई गंभीर अपराधिक मुकदमे दर्ज थे और उसका जिले में काफी आतंक भी था।

व्यापारी से मांगी थी पांच लाख रूपए की रंगदारी

सूर्यांश ने गुरुवार को जिले के एक व्यापारी को एसएमएस कर पांच लाख रूपये रंगदारी मांगी थी। जिसके बाद व्यापारी ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूर्यांश के जिले में होने के आहट के बाद से पूरी पुलिस उसकी तलाश में जुटी थी। इसी बीच स्वाट टीम को देर शाम जानकारी मिली कि तरवां के बहुचर्चित दलित ग्राम प्रधान सत्यमेव जयते की हत्या में वांछित तीन लाख रूपए का ईनामी सूर्यांश किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए सरायमीर थाना क्षेत्र में जा रहा है। सूचना के बाद स्वाट टीम ने सरायमीर थाने की पुलिस के साथ संयुक्त रूप से आपरेशन चलाया तब कहीं जाकर बड़ी सफलता मिली।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned