आजमगढ़ का असल विकास पुरुष कौन? मुलायम या मोदी

-यूपी विधानसभा चुनाव से पहले पीएम के आगमन की संभावना पर छिड़ी बहस

-सपाई और भाजपाईयों का अपना-अपना है दावा

By: Ranvijay Singh

Updated: 13 Sep 2021, 02:28 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. यूपी चुनाव में कुछ ही महीने बाकी हैं। आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। सपा का दावा है कि आजमगढ़ के विकास की हर ईंट का मुलायम सिंह और अखिलेश यादव का नाम लिखा है। वहीं भाजपाई दावा कर रहे हैं कि जितने काम पिछले 70 साल में हुआ था उससे कहीं ज्यादा योगी और मोदी ने पांच साल में कर दिखाया है लेकिन जिले में विकास की हकीकत क्या है यह आंकड़े खुद गवाही कर रहे हैं। वैसे आजमगढ़ को विकासपुरुष आम आदमी किसे मानता है यह फैसला वर्ष 2022 में चुनाव मेें मतदाता करेंगे। हम आज उन बड़ी परियोजनाओं पर नजर डालेंगे जिससे जिले के विकास को गति मिली है।

पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह की उपलब्धि
मुलायम सिंह ने वर्ष 2003 में आजमगढ़ जिला अस्पताल में रिजनल डाइग्नोसिस सेंटर की स्थापना की करोड़ों की मशीन लगवाया लेकिन चालू नहीं हुआ। मुलायम की की सबसे बड़ी उपलब्धि सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल एवं मेडिकल कालेज है। जिसकी नींव उन्होंने वर्ष 2005 में रखी थी। इसके अलावा मुलायम ने राहुल प्रेक्षागृह, जिला महिला अस्पताल बनवाया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
छपरा से शाहगंज तक रेलवे लाइन दोहरीकरण, मऊ से शाहगंज तक रेलवे लाइन विद्युतीकरण, वाराणसी वाया आजमगढ़ लुंबनी तक नेशनल हाईवे, किसान सम्मान निधि पीएम मोदी की बड़ी परियोजना में शामिल है।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
चीनी मिल का निर्माण, कृषि विश्वविद्यालय कैंपस की स्थापना, डेयरी स्थापना, अतरौलिया में सौ शैय्या अस्पताल, ट्रामा सेंटर, रोडवेज आजमगढ़ का निर्माण आदि अखिलेश यादव की बड़ी परियोजनाएं शामिल है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, मंदुरी एअरपोर्ट सीएम योगी की बड़ी परियोजनाओं में शामिल है। इसके अलावा सरकार ने पैरा मेडिकल कालेज, विश्वविद्यालय मिनी स्टेडियम सरकार की नई बड़ी परियोजनाओं में शामिल हैं।

Show More
Ranvijay Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned