scriptKnow why UP elections will special this time railly and road show ban | UP assembly election 2022: आजादी के बाद पहली बार इस वजह से खास होगा यह चुनाव, राजनीतिक दलों की राह होगी कठिन | Patrika News

UP assembly election 2022: आजादी के बाद पहली बार इस वजह से खास होगा यह चुनाव, राजनीतिक दलों की राह होगी कठिन

UP assembly election 2022: आजादी के बाद पहली बार ऐसा होगा कि किसी चुनाव में रैलियां और रोड शो नहीं होंगे। बल्कि सोशल मीडिया के जरिए डिजिटल चुनाव लड़ा जाएगा। राजनीतिक दलों के मध्य वर्चुअल प्रचार की जंग देखने को मिलेगी। इससे राजनीतिक दलों की मुश्किल बढ़ेगी। कारण कि पूर्वांचल में आज भी एक बड़ा तबका ऐसा है जो पूरी तरह सोशल मीडिया और इंटरनेट से दूर है।

आजमगढ़

Published: January 11, 2022 12:10:55 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. UP assembly election 2022: आजादी के बाद लोग पहली बार बिल्कुल अलग तरह का चुनाव देखेंगे। कारण कि यह पहला चुनाव होगाा जो पूरी तरह डिजिटल होगा। यानि कि सोशल मीडिया के जरिए लड़ा जाएगा।कोविड को देखते हुए रैलियों और रोड शो पर प्रतिबंध किया गया है। यानि कि राजनीतिक दलों के मध्य वर्चुअल प्रचार की जंग होगी। इससे राजनीतिक दलों की मुश्किल बढ़ेगी। कारण कि बड़े नेता सीधे तौर पर जनता से संपर्क नहीं कर पाएंगे। वहीं एक बड़ा तबका ऐसा भी है जो आज भी पूरी तरह सोशल मीडिया और इंटरनेट से दूर है। इन्हें इंटरनेट, मीडिया, फेसबुक, ट्विीटर व वाट्सएप आदि के बारे में इन्हें जानकारी नहीं है।

प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटो

गौर करें तो पूर्व के चुनावों में राजनीतिक दलों के पास एक-दूसरे पर खुलकर प्रहार का मौका होता था। बड़े नेताओं की सभा के जरिए प्रत्याशी अपने लिए समर्थन जुटाने की कोशिश करते थे। बड़े नेताओं की सभा के बाद 5 से 10 प्रतिशत तक मत इधर उधर होने की पूरी संभावना होती थी। वहीं रोड शो से राजनीतिक दल अपनी ताकत का एहसास कराते थे। खासतौर पर सभा और रोड शो सपा, बसपा का बड़ा हथियार होता था। इनके वोटर हमेंशा से भीड़ जुटाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते रहे हैं। इस बार ऐसा कुछ नहीं होना है जिससे दलों में छटपटाहट साफ दिख रही है।

राजनीति के जानकारों की मानें तो अब पहले की अपेक्षा चुनाव ज्यादा प्रजातांत्रिक हुआ है लेकिन घरों में विचार अब भी आजादी के लिए छटपटा रहे हैं। परिवार के मुखिया अपने विचार सदस्यों पर थोपने में आज भी सफल हो रहे हैं। भारत निर्वाचन आयोग के सख्त नियम और उनके अनुपालन में सख्ती से चुनाव-दर-चुनाव प्रजातांत्रिक अक्स बढ़ती जा रही है। यह स्वस्थ्य लोकतंत्र के लिए एक अच्छा संकेत है।

वहीं दूसरी आयोग का यह फैसला राजनीतिक दलों को रास नहीं आ रहा है। सपा सरकार में राज्यमंत्री रहे डा. राम दुलार राजभर कहते हैं कि डिजटल प्रचार प्रसार के लिए अधिक पैसे की जरूरत होती है जो छोट दलों के पास नहीं है। इससे हमारी समस्या बढ़ेगी। भाजपा ऋषिकांत राय व महासचिव सूरज प्रकाश श्रीवास्तव कहते हैं कि दो साल से कोरोना महामारी के कारण पार्टी के अधिकांश कार्यक्रम वर्चुअल माध्यम से होते रहे हैं। अब यह व्यवस्था व्यवहारिक हो चुकी है। बूथ स्तर पर समिति व पन्ना प्रमुखों के माध्यम से डोर-टू-डोर प्रचार भी किया जाएगा।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रवीण कुमार सिंह का कहना है कि संचार क्रांति का पार्टी सही तरीके से इस्तेमाल करना जानती है। न्याय पंचायत, ग्राम पंचायत व बूथ स्तर के पदाधिकारियों को इससे अवगत कराया गया है। इंटरनेट मीडिया के साथ कोविड गाइडलाइन के अनुसार क्षेत्र में प्रचार किया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

Corona cases in india: पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2.35 लाख केस, 871 की मौत, संक्रमण दर हुई 13.39%UP Assembly Election 2022: सपा के बाद अब बीजेपी ने भी खोले पत्ते, जातीय समीकरण साध विपक्ष की गणित बिगाड़ने की कोशिशUP Assembly Elections 2022: भाजपा ने किसानों से झूठा वादा किया, उन्हें धोखा दिया, प्रेस कांफ्रेंस में बोले अखिलेशदिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू खत्म, आज से नई गाइडलाइंस के साथ मेट्रो सेवाएं शुरूमुस्लिम वोटों को लुभाने के लिए बसपा ने किया बड़ा खेल, बाकी हैराननहीं बदला जाएगा नौकरशाही का मुखिया, एक्सटेंशन के लिए फाइल सरकार ने केंद्र को भेजीCISF Recruitment 2022: सीआईएसएफ में फायरमैन कांस्टेबल के लिए बंपर भर्ती, 12वीं पास आज से करें आवेदनखतरनाक साइड इफैक्ट : इलाज के बाद ठीक हुए मरीजों पर आइआइटी का शोध, खराब हो रहे ये अंग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.