दहेज हत्या के आरोप में पति समेत सात नामजद, धोखाधड़ी में चार के खिलाफ मुकदमा दर्ज

विवाहिता की मौत के बाद परिजनों की तहरीर पर दर्ज हुई एफआईआर, एक अन्य महिला के साथ धोखाधड़ी के आरोप में हुई कार्रवाई

By: Devesh Singh

Published: 25 Apr 2018, 04:57 PM IST

रिपोर्ट-रणविजय सिंह

आजमगढ़. दहेज प्रताड़ना से आजिज आकर मायके में रह रही विवाहिता ने मंगलवार की शाम आत्मदाह कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। इस मामले में मृत विवाहिता के भाई ने बहन को आत्महत्या के लिए उत्प्रेरित करने के आरोप में मृतका के पति, ससुर और सास सहित सात लोगों के खिलाफ देवगांव कोतवाली में नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई है।
देवगांव कोतवाली क्षेत्र के चेकपोई ग्राम निवासी कुंवर शेखर सिंह की बहन रेनूरश्मि सिंह की शादी जौनपुर जनपद के केराकत थाना अंतर्गत अहन ग्राम निवासी रणजीत पुत्र दुर्गा सिंह के साथ हुई थी। कुंवर शेखर सिंह का आरोप है कि ससुराल वाले दहेज की मांग को लेकर उसकी बहन को मारते-पीटते और प्रताड़ित करते थे। जिसके चलते वह मायके में रहने को मजबूर हो गई। ससुराल वालों द्वारा फोन पर बहन को दहेज की मांग के चलते मानसिक आघात पहुंचाया जा रहा था। ससुराल वालों की मानसिक प्रताड़ना से आजिज आकर रेनूरश्मि ने मंगलवार की शाम अपने शरीर पर मिट्टी का तेल छिड़क स्वयं को आग के हवाले कर दिया। गंभीर रूप से झुलसी विवाहिता ने कुछ ही देर बाद दम तोड़ दिया। मृतका के भाई द्वारा नामजद किए गए पति रणजीत सिंह, ससुर दुर्गा सिंह, सास उषा देवी, ननद काजल सहित सात लोगों के खिलाफ देवगांव कोतवाली में दहेज हत्या का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

यह भी पढ़े:-बीजेपी विधायक का विवादित बयान, ममता बनर्जी को सुपर्णखा व राहुल गांधी को रावण बताया

 

धोखाधड़ी के मामले में चार नामजद
शहर कोतवाली में मंगलवार को धोखाधड़ी की शिकार हुई महिला की तहरीर पर आरोपित किए गए चार लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की गई।
सिधारी थाना क्षेत्र के रामपुर ग्राम निवासी सरस्वती देवी पत्नी रामसेवक मौर्य का आरोप है कि बीते वर्ष सितंबर महीने में उसके पट्टीदार रामसूरत मौर्य पुत्र शिव मौर्य सहित चार लोगों ने पीड़िता की जमीन को धोखे से दूसरे को बेच दिया। इस बात की जानकारी होने पर पीड़ित महिला ने चार लोगों के खिलाफ शहर कोतवाली में धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कराई है

यह भी पढ़े:-सीएम योगी के साथ अधिकारियों ने कर दिया खेल, दयाराम की जगह अमिर भाई आशाराम के यहां पर खिला दिया खाना




Devesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned