रिश्वत मांगने वाला लेखपाल निलंबित, औचक निरिक्षण में लगे आरोप तो हुई कार्रवाई

  • आजमगढ़ के डीएम नागेन्द्र प्रसाद सिंह ने किया फूलपुर तहसील का औचक निरिक्षण।

आजमगढ़. जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह ने शनिवार को फूलपुर तहसील का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा एसडीएम कोर्ट का निरीक्षण किया गया। कोर्ट में लम्बित प्रकरण पाये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि लम्बित वादों/प्रकरणों का निस्तारण करने में तेजी लायें। ग्राम चकीया सुलेमापुर के लोगों द्वारा पट्टा पर कब्जा न मिलने की शिकायत की गयी तथा लेखपाल राम नरायन द्वारा पैसा मांगने का आरोप लगाया गया। इसपर उन्होंने लेखपाल रामनरायन को निलम्बित करने के लिए एसडीएम को निर्देश दिये।

इसे भी पढ़ें

भाजपा प्रदेश मंत्री त्रयंबक त्रिपाठी का सपा-बसपा पर बड़ा हमला, दिया बड़ा बयान

जिलाधिकारी द्वारा तहसील कोर्ट के निरीक्षण के दौरान मिसिल बन्द रजिस्टर का अवलोकन किया गया। जिलाधिकारी द्वारा 05 वर्ष से ज्यादा के लम्बित प्रकरण को देखा गया, उन्होने 05 वर्षां से ज्यादा के लम्बित वादों के प्रकरण में लाल टैग लगाने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने एसडीएम फूलपुर को निर्देश दिये कि 05 वर्षां से ज्यादा के लम्बित मुकदमों को सूचीबद्ध करते हुए उसका निस्तारण करें। जिलाधिकारी ने तहसीलदार को निर्देश दिये कि भूमि विवाद, पट्टा आदि वादों की लेखपालवार सूची बनवायें और उसका निस्तारण करायें।

इसे भी पढ़ें

भाजपा का प्लान बढ़ाएगा विपक्ष की मुसीबत, मैदान में उतरे कार्यकर्ता
जिलाधिकारी द्वारा स्टाम्प की वसूली में लम्बित प्रकरण को देखा गया, स्टाम्प की वसूली में अमीन राम करन मौर्य की वसूली कम पायी गयी। उन्होने तहसीलदार को निर्देश दिये कि स्टाम्प की वसूली के लम्बित प्रकरणों की प्रतिमाह समीक्षा करते हुए उसका निस्तारण करें। उन्होने यह भी कहा कि जिनकी वसूली नही हो पा रही है, उनके जमीन की कुर्की तथा आरसी जारी करें। इस अवसर पर एसडीएम फूलपुर मेवालाल, तहसीलदार फूलपुर अम्बिका चौधरी, जिला सूचना अधिकारी डॉ. जितेन्द्र प्रताप सिंह सहित तहसील के कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

By Ran Vijay Singh

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned