इश्क की राह में रोड़ बना युवक तो कर दी चाकुओें से गोदकर हत्या, दोनो एक ही लड़की से करते थे प्रेम

बिलरियागंज थाना क्षेत्र में युवक की चाकुओं से गोदकर हुई हत्या का राज पुलिस ने खोल दिया है। युवक की हत्या इसलिए की गयी क्योेंकि वह एक अन्य युवक के प्रेम की राह में रोड़ा बन गया था। दोनों एक ही लड़की से प्रेम करते थे। जब मना करने के बाद भी युवक रास्ते से नहीं हटा तो उसकी हत्या कर दी गयी।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. कहते हैं कि इश्क के जुनून में इन्सान अपना सुधबुध खो देता है। ऐसा ही एक मामला बिलरियागंज थाना क्षेत्र में सामने आया है। यहां एक युवती से दो युवक प्रेम करते थे। एक युवक चाहता था कि दूसरा उसके रास्ते से हट जाय ताकि वह शादी कर सके लेकिन धमकी के बाद भी युवक नहीं माना तो चाकुओं से गोदकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

बता दें कि बिलरियागंज थाना क्षेत्र के मधनापार स्थित पुलिया से सटे बाग में रविवार को 21 वर्षीय मनीष मिश्रा पुत्र राकेश मिश्रा निवासी गड़ेरूवा (माटी का पूरा) थाना जीयनपुर की लाश मिली थी। युवक की लाश मिलने से हड़कंप मच गया। सूचना पर पहुंचे मृतक के भाई पीयूष मिश्रा ने बिलरियागंज थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था।

मृतक आइटीआइ का छात्र था और घर से अपने पिता को स्टेशन छोड़ने तथा स्कूल की फीस जमा करने के लिए निकला था। छात्र की दिनदहाड़े हत्या से हड़कंप मच गया था। पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने इस ममाले के तत्काल खुलासे का निर्देश दिया था। इसके लिए कई टीमें लगाई गयी थी।

थानाध्यक्ष बिलरियागंज धर्मेंद्र सिंह सोमवार को क्षेत्र में चेकिंग कर रहे थे उसी दौरान मुखबिर से सूचना मिलली कि मनीष मिश्रा पुत्र राकेश मिश्रा की हत्या में शामिल रूपेश उपाध्याय पुत्र स्व. दिवाकर उपाध्याय निवासी सेहदा थाना कंधरापुर सियरहा पुलिया के पास मौजूद है। वह कहीं भागने की फिराक में है। इसके बाद थानाध्यक्ष पूर्वाह्न करीब 11 बजे फोर्स के साथ पहुंचे और घेरेबंदी कर आरोपी को पकड़ लिया। पकड़े गए रुपेश के पास से एक तमंचा और 315 बोर का जिंदा कारतूस बरामद हुआ।

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि जीयनपुर थाना क्षेत्र के एक लड़की से मेरा प्रेम प्रसंग है जिससे मनीष मिश्र भी प्रेम करता था। कई बार मनीष को समझाया लेकिन वह नहीं माना। हम दोनों एक दूसरे से शादी करना चाहते थे इसलिए मनीष मिश्रा को रास्ते की से हटाने के लिए मैंने भांजे सागर तिवारी पुत्र स्वर्गीय बृजेश तिवारी निवासी धनकपुर थाना सिधारी के साथ मिलकर मधनापार में रविवार को दिन में 1.30 बजे के करीब चाकू और बांस से वार कर मनीष की हत्या कर दी। थानाध्यक्ष बिलरियागंज धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि आरोपी की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त चाकू और बाइक भी बरामद कर ली गई है। उसे जेल भेजा जा रहा है।

BY Ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned