scriptMaulana Amir Rashadi said UDA will contest all 403 seats in UP | देश में यूपीए व एनडीए का विकल्प बनेगा यूडीए, सभी 403 सीटों पर लड़ेंगे चुनावः मौलाना आमिर रशादी | Patrika News

देश में यूपीए व एनडीए का विकल्प बनेगा यूडीए, सभी 403 सीटों पर लड़ेंगे चुनावः मौलाना आमिर रशादी

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारी में जुटे यूनाईटेड डेमोक्रेटिक एलायंस (यूडीए) की पहली रैली शनिवार को सरायमीर कस्बे से सटे खरेवां मोड़ पर हुई। इस दौरान नेता जहां राजनीतिक दलों पर जमकर बरसे वहीं दावा किया कि यूडीए देश व प्रदेश में यूपीए तथा एनडीए का विकल्प बनकर उभरेगा। गठबंधन यूपी की सभी 403 सीटों पर चुनाव लड़ेगा।

आजमगढ़

Published: December 25, 2021 05:24:32 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. यूपी विधानसभा चुनाव 2022 दिलचस्प होता दिख रहा है। सपा, बसपा, भाजपा के बाद अब यूनाईटेड डेमोक्रेटिक एलायंस (यूडीए) भी पूरी ताकत के साथ मैदान में उतरने का मन बना लिया है। यूडीए की पहली रैली खरेवां में आयोजित हुई जिसमें पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. अयूब, उलेमा कौंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी, नागरिक एकता पार्टी के अध्यक्ष मो. शमीम सहित कई बड़े मुस्लिम नेता मंच पर एक साथ नजर आए। इस दौरान दावा किया गया कि 80 दलों का यह गठबंधन यूपी की सभी 403 सीटों पर चुनाव लड़ेगा तथा यूपीए और एनडीए का विकल्प बनेगा।

डा. अयूब व आमिर रशादी
डा. अयूब व आमिर रशादी

उलेमा कौसिंल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश की जनता भाजपा सरकार के कुशासन से तंग आ चुकी है और बदलाव चाहती है लेकिन विपक्ष का बिखराव और अदूरदर्शिता इसमें बाधक बन रहा है। मौजूदा सरकार को अपनी हार साफ नज़र आ रही है इसीलिए अब हताशा में इनके लोग अनाप-शनाप बयान देने लगे हैं। मुसलमानों के सियासी हालात पर उन्होने कहा कि आज प्रदेश की राजनीति में तमाम दलों ने मुसलमानों को ‘राजनैतिक अछूत‘ बना दिया है। उनके मुद्दे और समस्याओं को हल करना तो दूर की बात है अब कोई राजनैतिक दल मुसलमानों का नाम तक लेने को तैयार नही है।

उन्होंने कहा कि पिछले 5 सालों में जहां एक तरफ मौजूदा सरकार ने अपना वोट बैंक बनाए रखने के लिए अपने पक्षपातपूर्ण रवैये से निर्दाेष मुसलमानों का उत्पीड़न किया, उनकी जाने गयीं, सम्पत्तियां गयीं, रोज़गार व्यापार गया तो वहीं मुसलमानों के मसीहा बनने वाले तथाकथित सेकुलर दल सपा, बसपा, कांग्रेस ने इस पूरे दौर में साथ देना तो छोड़िये अपनी ज़बान पर ताले लगाए रखा। अब चुनाव आ गया है तब भी ये तमाम दल मुसलमानों के मुद्दे और मसलों पर बोलना और उन्हे भागीदारी देना तो दूर मुसलमानों का नाम तक अपनी ज़बान पर लेने को तैयार नही हैं। अब तो जनसभा के मंचों से मुसलमानों को धक्के तक दिये जाने लगे हैं।

उन्होंने कहा कि ऐसे में अब यही हल है कि प्रदेश का मुसलमान अपने साथ अन्य वंचित व शोषित समाज को जोड़ कर अपनी राजनैतिक एकता का परिचय दें और अपनी लीडरशिप व भागीदारी की बात करे तथा इसका एहसास करांए। हमारा गठबंधन (यूडीए) इसी पर काम कर रहा है। पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अयूब ने कहा कि प्रदेश की सियासत में एक नए दौर की शुरूआत हो रही है। प्रदेश की राजनीति में ज़मीनी सतह पर सक्रिय तमाम वंचित व शोषित समाज के नेतृत्व वाले दलों को साथ लाया जाएगा ताकि वोटों का बिखराव रोका जा सके और जनविरोधी व फांसीवादी शक्तियों को सत्ता से बाहर करने के साथ ही अपनी राजनैतिक उपस्थिति दर्ज कराने की दिशा में ठोस कदम उठाया जा सके।

उन्होने कहा कि सभी दल वंचितो, शोषितों और मुसलमानों का मत लेकर सत्ता तो प्राप्त करना चाहते हैं मगर उन्हें उनके अधिकार व हिस्सेदारी नहीं देना चाहते हैं। हमारे इस गठबंधन का लक्ष्य ही मुसलमानों को राजनीतिक गुलामी से निजात दिलाना है और उनके साथ ही अन्य वंचित व शोषित वर्गों को उनके संवैधानिक अधिकार दिलाना है। आगामी चुनाव में हमारा गठबंधन नया इतिहास रचेगा और इसके परिणाम चौंकाने वाले होंगे। शोषित/वंचित वर्गों का प्रतिनिधित्व करने वाले अन्य राजनैतिक दलों को भी इस एलायंस में शामिल किया जाएगा ताकि सबको साथ लाकर उनके अधिकारों के लिए एक संगठित लोकतांत्रिक आवाज खड़ी की जा सके।

नागरिक एकता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मो. शमीम ने कहा कि हमारे गठबंधन का उद्देश्य धर्म व जातिवाद आदि भेदभाव से ऊपर उठकर सभी को साथ लेकर चलना है लेकिन जो वर्ग आज तक संवैधानिक अधिकारों और मूलभूत सुविधाओं से वंचित है उन्हें न्याय और अधिकार दिलाना हमारी प्राथमिकता है। समाज के हर वर्ग का सामाजिक, राजनीतिक, शैक्षिक व आर्थिक उत्थान और समाज में परस्पर सहयोग, अमन चैन का माहौल बनाये रखना ही हमारा मकसद है। हम मजबूती से इस ओर अग्रसर हैं।

उलेमा कौंसिल के प्रदेश अध्यक्ष अनिल सिंह ने कहा कि आज प्रदेश में राजनैतिक लाभ के लिए नफरत का माहौल बनाया जा रहा है। उलेमा कौंसिल इस नफरत को अपने नारे ‘एकता का राज चलेगा-मुस्लिम हिन्दू साथ चलेगा‘ से समाप्त करेगी। हमारी आजकी ‘एकता रैली‘ की कामयाबी इस बात की गवाह है कि प्रदेश की जनता नफरत की राजनीति से तंग आ चुकी है।

इस दौरान गुफरान कासमी, राष्ट्रीय प्रवक्ता तलहा रशादी, कलीम जामई, मो. ओबैदुर्रहमान कासमी, सैयद आफताब, प्रदेश अध्यक्ष यूथ विंग नुरूलहोदा अन्सारी, प्रदेश उपाध्यक्ष शहाबुद्दीन व मुबारक हुसैन, प्रदेश सचिव मतीउद्दीन व जिला प्रभारी शकील अहमद, जिलाध्यक्ष नोमान अहमद व पीस पार्टी के जिलाध्यक्ष डॉ. आसिफ आदि मौजूद थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.