आजमगढ़. बसपा सुप्रीमो मायावती ने आजमगढ़ की रैली में यह कहकर सबको चौंका दिया कि अगर हिन्दू धर्माचार्य व ठेकेदार नहीं सुधरे तो वो हिन्दू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म अपना लेंगी। मायावती ने इस रैली में वो सबकुछ था जो पहले की रैलियों में रहा है। इस रैली में भी कई ऐसे नेता थे जिन्होंने मायावती के पैर छुए। दरअसल कहा जाता है कि मायावती का पैर छूकर आशीर्वाद लेने वाले नेता ही बसपा में आगे बढ़ पाते हैं। कभी बसपा के दिग्गज रहे स्वामी प्रसाद मौर्य की भी तस्वीर पार्टी छोड़ने के बाद खूब वायरल हुई थी, जिसमें वो मायावती के पैर छूते दिखे थे। ऐसा इस रैली में भी हुआ, कई चेहरे ऐसे दिखे जिन्होंने बसपा सुप्रीमो मायावती के पैर छुए, कुछ को उन्होंने सादा आशीर्वाद दिया तो कुछ के सिर पर हाथ भी रखा। ऐसा भी कहा जाता है कि जिसके सिर पर हाथ रखकर मायावती आशीर्वाद दे देती हैं वो ही बसपा में सफल होता है। ऐसे में कहा जा सकता है कि शायद बसपा के सभी बड़े नेताओं ने कभी न कभी मायावती के पैर छूकर ऐसा आशीर्वाद पाया ही होगा।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned