आजमगढ़ : अपनों के हालचाल जानने के लिए परेशान रहे लोग

आजमगढ़ : अपनों के हालचाल जानने के लिए परेशान रहे लोग
mecca stampede

मक्का में भगदड़ की सूचना से आजमगढ़ के कई परिवारों के दिल दहल गए

आजमगढ़। मक्का में भगदड़ की सूचना से आजमगढ़ के कई परिवारों के दिल दहल गए। मीना में हज के दौरान शैतान को पत्थर मारते समय मची भगदड़ की खबर जैसे ही जायरीन के परिवारवालों को लगी तो उनके पैरों के नीचे से जमीन खसक गई। हज पर गए लोगों के नाते-रिश्तेदार हाल जानने को लेकर घंटो बेचैन रहे। काफी प्रयास के बाद जायरीनों के सुरक्षित होने की सूचना पाकर इन्होंने राहत की सांस ली। वहीं, कुछ लोगों का अब भी संपर्क नहीं हो पाया है जिस कारण वह चिंता में डूबे हैं। हज ट्रेनर मो. सलीम अहमद के मुताबिक जिले के जायरीन सुरक्षित हैं। किसी के हताहत की सूचना नहीं मिली है। बता दें कि आजमगढ़ जिले के करीब छह सौ लोग हज करने के लिए मक्का गए हुए हैं। इनमें से करीब ढाई सौ महिलाएं शामिल हैं। हज पर जाने वालों में सबसे अधिक सरायमीर क्षेत्र के ढाई सौ लोग, मुबारकपुर के 150 जायरीन हैं।

शेष जिले के अन्य क्षेत्रों के लोग हैं। तकिया मोहल्ला निवासी मो. अनफ के मुताबिक, उनके पिता मो. आरिफ और मां रोशनआरा हज पर गए हैं। गुरुवार की दोपहर करीब दो बजे मक्का में भगदड़ की जानकारी हुई तो माता-पिता से संपर्क करने में जुट गए। करीब ढाई घंटे बाद बात होने पर उन्हें चैन आया।

बताते चले कि, सउदी अरब के मक्का शहर में बीते गुरुवार को हुई भगदड में लखनऊ से गए हजयात्री मोहम्मद अहमद की मौत हो गई है। मोहम्मद अहमद राजधानी के चौक इलाके का रहने वाला थे।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned