दूध में मिलावट की तो खैर नहीं, अब इस मशीन के जरिये होगी जांच

 दूध में मिलावट की तो खैर नहीं, अब इस मशीन के जरिये होगी जांच
milk test van

 मिलावट होने के बाद दूध में फैट और स्नैप 

आजमगढ़. जिले में दूध में मिलावट करने वाले दूधियों की अब खैर नही,  दूध में मिलावट को रोकने व गुणवत्ता की जांच के लिए खाद्य विभाग ने मोबाइल मिल्क टेस्ट मशीन आम लोगों के लिए उपलब्ध करा दी है । यह मोबाइल मिल्क टेस्ट मशीन सार्वजनिक स्थानों और दूध बिक्री वाले स्थानों पर भ्रमण करेगीं और लोगों के दूध की जांच निःशुल्क होगी। साथ ही साथ लोगों को अपने दूध की जांच कराने के लिए जनजागरूकता अभियान की चलायेगी। 

 
दूध में मिलावट को रोकने के लिए आमजन के पास कोई जांच का उपकरण उपलब्ध न होने से लोगों को मिलावटी दूध लेना पड़ता था। लेकिन अब सरकार के प्रयास से इसकी जांच के लिए मशीन उपलब्ध हो गयी है ।  गुरूवार को कलेक्ट्रेट परिसर में मोबाइल मिल्क टेस्ट मशीन का उद्घाटन जिलाधिकारी ने फीता काट कर वाहन को रवाना किया। यह मोबाइल मिल्क टेस्ट मशीन सार्वजनिक स्थानों बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन के साथ ही दूध बेचने वाले स्थानों पर उपलब्ध होगी। जहां कोई भी बिना किसी शुल्क के अपने दूध की जांच कर सकता है। दूध की जांच के लिए विभाग लोगों को जागरूक भी करेगा। ताकि लोग अपने दूध की जांच कर उसकी गुणवत्ता और मिलावट की जांच कर सकें। 


 
जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने कहा कि अभय कुमार सिंह ने बताया कि पूरे प्रदेश में दूध की जांच के लिए मोबाइल मिल्क टेस्ट मशीन चल रही है। यह मशीन राजस्थान के जयपुर में बनी है जिसकी कीमत एक लाख रूपये के करीब है। इससे तत्काल दूध में फैट और स्नैप आदि का पता लग जाता है। सभी दूधारू पशुओं के लिए अलग-अलग मानक है। साथ ही मिलावटी दूध का भी अलग मानक है। इस मशीन से दूध का एक प्रकार से सर्वे, गुणवत्ता और जनजागरूकता लायी जा रही है। 
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned