आजमगढ़ के ट्रेनिंग सेंटर में नहीं है शौचालय 

केंद्र और राज्‍य सरकार दोनों ही स्‍वच्‍छता अभियान को लेकर बड़े बड़े दावे कर रही हैं। केंद्र सरकार के मंत्री तक सड़क पर झाड़ू लिये उतर रहे हैं। लेकिन सच कोई मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में देख सकता है।

आजमगढ़. केंद्र और राज्‍य सरकार दोनों ही स्‍वच्‍छता अभियान को लेकर बड़े बड़े दावे कर रही हैं। केंद्र सरकार के मंत्री तक सड़क पर झाड़ू लिये उतर रहे हैं। लेकिन सच कोई मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में देख सकता है। यहां सिधारी पर स्थित होमगार्ड ट्रेनिंग सेंटर में एक अदद शौचालय तक नहीं है। जबकि यहां तीन जिलों के होमगार्ड ट्रेनिंग ले रहे है। ये होमगार्ड दैनिक क्रिया से निवृत्‍त होने के लिए सुबह शाम लोटा लेकर भटकते हैं। यहीं नहीं होमगार्डो पर विश्‍वास करें तो यहां तैनात सफाईकर्मी भी कभी नजर नहीं आते हैं।


इस सेंटर पर तीन जिलों के करीब 300 जवान प्रतिमाह ट्रेंनिंग लेते हैं। यहां सफाई के लिए एक सफाईकर्मी तैनात है लेकिन वह कभी नहीं आता है। प्रशिक्षण केंद्र में एक भी शौचालय नहीं है। परिणाम है कि शौच के लिए नदी किनारे बंधे पर भटकना पड़ता है। 

पानी के लिए मात्र एक हैंडपंप है जिससे गंदा पानी आता है। नाला जाम होने कारण गंदा पानी कैंप में फैला रहता है। गंदगी के चलते आये दिन लोग बीमार पड़ते हैं। हाल में फिसलकर गिरने से ठेकमा के होमगार्ड विजय बहादुर की टांग टूट गई। इसके बाद उसे जिला अस्‍पताल में भर्ती कराया गया लेकिन विभाग ने उपचार में कोई मदद नहीं की।

जवानों ने आपस में चंदा लगा कर दिया तब कहीं जाकर उसका उपचार हुआ। समस्‍याओं को विभाग गंभीरता से नहीं ले रहा है। वहीं इस संबंध में डीएम को भी ज्ञापन सौंपा गया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। होमगार्ड संघ के जिलाध्‍यक्ष लाल बहादुर पाठक, मर्याद यादव, राजेश शुक्‍ला, अरूण कुमार मौर्य, विजय पांडेय, रामचंदर यादव, मुन्‍नी प्रसाद, अरविंद राम, योगेंद्र यादव आदि ने बताया कि उनकी समस्‍याओं के प्रति शासन प्रशासन कोई गंभीर नहीं है। जिसके कारण उन्‍हें तमाम परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यहीं हाल रहा तो वे आंदोलन के लिए बाध्‍य होंगे।   
 
pm modi
Show More
ज्योति मिनी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned