पवनहंस दुर्घटना में जनपद ने खोया एक लाल

व्यवसाय जगत में शोक की लहर

By: Sunil Yadav

Published: 15 Jan 2018, 07:55 AM IST

आजमगढ़. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के जुहू स्थित हेलीपैड से शनिवार की सुबह उड़ान भरने वाले पवनहंस हेलीकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त हो हो जाने से तेल एवं प्राकृतिक गैस कारपोरेशन लिमिटेड (ओएनजीसी) में कार्यरत उपप्रबंधक पंकज गर्ग की मौत से जनपद में भी शोक की लहर व्याप्त हो गई। इस हादसे में जनपद ने अपना एक लाल खो दिया। दुर्घटना की खबर पाते ही मृतक अधिकारी के परिजन मुंबई के लिए रवाना हो गए।


शहर के पुरानी सब्जीमंडी मोहल्ला निवासी शंकर शरण दास अग्रवाल रेलवे विभाग से सेवानिवृत्ति के बाद अपने दो भाइयों सुदर्शन दास अग्रवाल एवं गोकुलदास अग्रवाल के साथ अपने पैतृक आवास पर रहते हैं। गत जून माह में शंकर शरण दास की पत्नी मीरा अग्रवाल का देहावसान हो गया। शंकर शरण दास के बड़े पुत्र पंकज गर्ग ओएनजीसी में उपमहाप्रबंधक पद पर तैनात थे। इन दिनों वह परिवार सहित मुंबई के सांताक्रुज इलाके में रहते थे। उनके छोटे भाई नीरज गर्ग भी मुंबई में विख्यात तेल कंपनी भारत पेट्रोलियम में अधिकारी पद पर कार्यरत हैं।

 

शनिवार की सुबह पंकज गर्ग अपने सहकर्मी चार अधिकारियों व दो पायलटों के साथ मुंबई के जुहू हेली बेस से पवनहंस हेलीकाप्टर द्वारा बांबे हाई में स्थित तेलरिंग के लिए उड़ान भरे। कुछ ही देर बाद उनका नियंत्रण कक्ष से संपर्क टूट गया। इसके बाद ओएनजीसी में हड़कंप मच गया। लापता अधिकारियों की तलाश के लिए ओएनजीसी के साथ ही तटरक्षक बल और नौसेना को भी तलाशी अभियान में लगाया गया।

 

कुछ समय बाद चार शव बरामद कर लिए गए। मृतकों में जनपद के प्रतिष्ठित व्यवसाई सुदर्शन दास अग्रवाल के भतीजे व पूर्व रेलअधिकारी शंकर शरण दास अग्रवाल के बड़े पुत्र पंकज गर्ग भी शामिल थे। उनके मौत की खबर पाकर व्यवसाय जगत में शोक की लहर दौड़ गई। मृतक की पत्नी अंजलि व दो बेटियों ओजस्वी व राशि का रो-रोकर बुरा हाल है। उन्हें सांत्वना देने के लिए परिवार के लोग भी मुंबई के लिए रवाना हो गए हैं।

 

Sunil Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned