आजमगढ़ के डीएम की अनोखी पहल, अब जैैैैसा लोग बताएंगे वैैैैसा होगा शहर का विकास

आजमगढ़ के डीएम की अनोखी पहल, अब जैैैैसा लोग बताएंगे वैैैैसा होगा शहर का विकास

Mohd Rafatuddin Faridi | Publish: Aug, 08 2017 10:51:00 PM (IST) Azamgarh, Uttar Pradesh, India

मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ के डीएम ने एक अनोखी पहल की है जनता को शहर के विकास की रूपरेखा बनाने का सुझाव दिया है, ताकि सही विकास हो।

आजमगढ़. यूपी के आजमगढ़ नगर क्षेत्र के विकास एवं सुधार के लिए नागरिकों से सुझाव लेने की पहल जिलाधिकारी चन्द्र भूषण सिंह ने की है। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में उन्होने अधिकारियों को दिशानिर्देश दिये। उन्‍होंने कहा कि शहर में जल निकासी, गलियां की मरम्मत, साफ-सफाई एवं स्ट्रीट लाइट की आवश्यकता है। इसके लिए धन भी उपलब्ध है और इसे व्यवस्थित ढंग से व्यय कर कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होने कहा कि शहर क्षेत्र में नगरपालिका, नगर विकास अभिकरण डूडा, आजमगढ़ विकास प्राधिकरण कार्य करते है। तीनों के एक साथ बैठ कर सिस्टम से विकास एवं सुधार की कार्य योजना तैयार की जायेगी। उन्होने कहा कि बहार के प्रमुख संगठनां ने चौरहों को सुसज्जित किया है। हमें विश्‍वास है कि आगे भी शहर के विकास के लिए सभी नगरिक संगठन सक्रिय सहयोग करेगें।

 

 

जिलाधिकारी ने कहा कि सिविल सोसाइटी का गठन किया जायेग। जिसमें शहर के प्रमुख संगठन एवं प्रबुद्ध नागरिक होगें। इसका रजिस्ट्रेशन कराया जायेगा तथा बाइलाज तैयार किया जायेगा। सिविल सोसाइटी की बैठक प्रतिमाह होगी। इस बैठक में नागरिकों से प्राप्त सुझावां पर विभाग से तकनीकी सहयोग लिया जायेगा तथा उपलब्ध धन से कार्य कराया जायेगा।

 

 

उन्होने बताया कि उप जिलाधिकारी सदर के नेतृत्व में पूरे शहर का सर्वे कराया गया है। जिसमें 6 महत्वपूर्ण नालें है। ज्यादातर नालें बन्द है और पानी बह नही रहा है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि नालों पर अवैध अतिक्रमण हटाना शुरू करें। सभी जेसीबी मशीने लगा दें। पहले अतिक्रमण करने वाले से उसे हटाने के लिए अनुरोध किया जायेगा। नालों को मूल रूप में लाया जायेगा।

 

 

उन्होने कहा तालाबो को भी मूल रूप में वापस लाया जायेगा। कब्जेदारों को नोटिस दे दें। उनका कम से कम नुकसान करते हुए तालाबों को पुराने रूप में लाया जायेगा। तालाब पर अवैध कब्जा हटाने का मा0 उच्चतम न्यायायल का आदेश है। बैठक में उपस्थित लोगों ने भी सहयोग का आश्वासन दिया है। उन्होने कहा कि सीवर सिस्टम को भी ठीक किया जायेगा। नालें पर पक्का निर्माण की अनुमति नही होगी, जालीदार ढक्कन लगा सकता है।

 

 

 बैठक में सीडीओ अभिषेक सिंह, एसडीएम वित्त बीके गुप्ता, सीमएमओ डा. एसके तिवारी, सीआरओ आलोक कुमार, डा. बीके अग्रवाल, आईएमए की अध्यक्षा डा. स्वास्ति सिंह, विमला सिंह, डा. निर्मल श्रीवास्तव, डा. सुधीर अग्रवाल, सुदर्शन दास अग्रवाल, प्रभुनाथ अग्रवाल, अजय अग्रवाल, डा. फुरकान अहमद, डा. अशोक सिंह, दीनू जायसवाल, जल निगम के अधि. अभियन्ता एसके यादव, नगरपालिका, डूडा, विकास प्राधिकरण के अभियन्ता एवं अधिकारीगण उपस्थित रहें।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned