पीएम मोदी के खिलाफ लामबंद हो रहा मुलायम सिंह यादव का आजमगढ़ 

पीएम मोदी के खिलाफ लामबंद हो रहा मुलायम सिंह यादव का आजमगढ़ 

आरपार की लड़ाई का अह्वान

आजमगढ़.  जिला मुख्‍यालय से दिल्‍ली तक चलने वाली एक मात्र ट्रेन कैफियत एक्‍सप्रेस को मऊ से चलाने के प्रस्‍ताव का मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में विरोध शुरू हो गया है। रविवार को इस मुद्दे को लेकर पूरे दिन हंगामा दिखा। आजमगढ़ विकास संघर्ष समिति सहित कई संगठनों ने स्‍टेशन अधीक्षक से मुलाकात कर रेलमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। प्रस्‍ताव रद्द न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी।
 


विकास संघर्ष समिति के लोगों ने अध्यक्ष एसके सत्येन के नेतृत्व रेलवे स्‍टेशन पर विरोध प्रदर्शन किया। इसके बाद स्‍टेशन अधीक्षक को रेलमंत्री/रेल राज्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा को सौंपा गया। एसके सत्येन ने कहा कि प्रख्यात शायर कैफी आजमी के स्मृति में चलने वाली कैफियत एक्सप्रेस को मऊ से चलाना आजमगढ़ वासियों के साथ धोखा है। कैफियत एक्सप्रेस जो आजमगढ़ को देश की राजधानी दिल्ली से जोड़ती है। इस जिले की आबादी करीब 50 लाख की है जबकि मऊ की आबादी इसकी आधी है। ऐसे में इसे मऊ से चलवाना कही से भी न्याय संगत नहीं है। 




आजमगढ़ स्टेशन से बनकर एक मात्र कैफियत एक्सप्रेस का संचालन किया जाता है जबकि दिल्ली को जाने वाली आनन्द विहार एक्सप्रेस वर्षों से मऊ से संचालित की जाती है। ऐसे में कैफियत एक्सप्रेस को भी मऊ से संचालित करना कहीं से भी ठीक नहीं है। मऊ के लोगों की सुविधाओं के लिए आनन्द विहार एक्सप्रेस को प्रतिदिन संचालित करते हुए इसे ही सुपरफास्ट का दर्जा दिया जाये ताकि पूर्वांचल का विकास हो। रेलवे मंत्रालय कैफियत एक्सप्रेस को लेकर अपना रूख स्पष्ट नहीं करेगा तो लामबंद होकर आजमगढ़ जनपदवासी कैफियत एक्सप्रेस को मऊ से चलाकर कैफी आजमी की धरती से होकर गुजरने नहीं देंगे। इस मौके पर पप्पू कुमार यादव,  राजेश यादव, रूद्रप्रताप अस्थाना, ज्ञानेन्द्र सिंह, दीपक वर्मा, अंकुर सिंहा, राजू चौहान, पंकज राजभर, पारस सोनकर, विजय चौरसिया, राज राजेश्वर सिंह आदि उपस्थित थे।


इसी क्रम में भारत रक्षा दल के कार्यकर्ताओं ने रेलवे स्‍टेशन पर प्रदर्शन कर अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा। अध्‍यक्ष उमेश सिंह गुडडू ने कहा कि यह आजमगढ़ के साथ अन्‍याय है। आजमगढ़ से संचालित होने के बाद भी यहां के लोगों दिल्‍ली जाने के लिए सीट नहीं मिलती है। सरकार और ट्रेन देने के बजाय यह ट्रेन भी हमसे छीनना चाहती है। इसका हर स्‍तर पर विरोध किया जायेगा। 



इसी तरह प्रयास संस्‍था द्वारा भी कैफियत के मऊ संचालित होने के विरोध में प्रदर्शन किया गया। अध्यक्ष रणजीत सिंह ने बताया कि कैफियत एक्सप्रेस आजमगढ़ की शान है। यहां के स्थानीय परिवहन सेवा की महत्वपूर्ण कड़ी है। जिससे प्रतिदिन हजारों जनपदवासी अपने गन्तव्यों तक पहुंचते हैं ऐसे में कैफियत एक्सप्रेस का स्थल परिवर्तन किये जाने की खबरो से जनपदवासी स्तब्ध हैं। उन्होंने कहा कि अगर रेलवे मंत्रालय इस पर अपना रूख स्पष्ट नहीं करेगा तो हम दिल्ली तक पहुंचकर अपनी आवाज बुलंद करेंगे। 
खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned