मुलायम के गढ़ से चुनावी बिगुल फुंकेंगे मोदी

मुलायम के गढ़ से चुनावी बिगुल फुंकेंगे मोदी

Sunil Yadav | Publish: Jul, 13 2018 09:10:54 PM (IST) Azamgarh, Uttar Pradesh, India

मुख्यमंत्री के साथ ही पूर्वांचल के दिग्गज नेता करेंगे शिरकत

आजमगढ़. जनपद से लगभग 12 किमी पश्चिम स्थित मंदुरी हवाई पट्टी पर प्रधानमंत्री के होने वाले कार्यक्रम की सभी तैयारिया पूरी कर ली गई है। अभेद्य सुरक्षा के बीच पीएम नरेन्द्र मोदी विशाल जनसभा को सम्बोधित और पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का शिलान्यास करेंगे। शुक्रवार को जहां जहा से रूट डायवर्जन किया गया है वहां पर भारी मात्रा में मजिस्ट्रेट के साथ ही पुलिस के जवान भी लगा दिये गये हैं। शनिवार को 2 बजकर 20 मिनट पर पीएम कार्यक्रम स्थल पर पहुंचेंगे। रैली में भारी तादाद में अल्पसंख्यक समुदाय के लोग भी शिरकत करेंगे।

प्रधानमंत्री के रैली के दौरान काली पट्टी, टोपी व काला पैंट, कपड़ा पहनकर आने वाले पर प्रशासन की कड़ी नजर रहेगी। इनको किसी भी किमत पर सभा स्थल पर जाने नही दिया जाएगा। मंच पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल रामनाइक के अलावा प्रदेश कैविनेट के वरिष्ठ मंत्री व पार्टी के वरिष्ठ नेता ही रहेंगे। इसके अलावा पूर्वांचल के अन्य जिलों से आने वाले नेता मंच के सामने लगी कुर्सियों पर बैठेंगे। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को कवरेज करने के लिए मीडिया कर्मियों को भी बैठने की अलग से प्रेस दीर्घा की व्यवस्था किया गया है।


जनपद के विकास में समाजवादी पाटी का अहम योगदान रहा है। इसी कारण यहां की जनता ने अन्य दलों को नकार सपा को अपने सिर पर बैठाया और विधानसभा से लेकर लोकसभा तक पार्टी के प्रत्याशियों को यहां का प्रतिनिधित्व करने का मौका दिया। वर्तमान समय में सपा के मुखिया रहे मुलायम सिंह यादव यहां कि सांसद हैं। मोदी लहर में भी यहां की जनता ने सपा को ही तवज्जों दिया था। इस जनपद से मुलायम का काफी लगाव रहा है। यही कारण था कि मुलायम इटावा को दिल तो आजमगढ़ को अपना धड़कन कहते बताते हैं।

यहां पीएम मोदी पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का शिलान्यास करेंगे। इसके बाद मंदुरी में विशाल जनसभा को सम्बोधित करेंगे। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को सकुशल सम्पंन कराने के लिए प्रशासन पूरी तेयारी कर लिया है। गुरूवार को प्रधाननंत्री के सुरक्षा व्यवस्था का हवाई पट्टी पर रिहर्सल भी किया गया। अन्य जिलों से आये मजिस्ट्रेटो व पुलिस के अधिकारियों को उनकी जिम्मेदारी सौप दी गई है। एसपीजी के एडीजी और पुलिस के दो एडीजी ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। कार्यक्रम स्थल पर सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी मुख्य विकास अधिकारी को सौपी गई है। कार्यक्रम स्थल एसपीजी के हवाले हो गया है। इसके अलावा अन्य सुरक्षा व खुफिया एजेंसियां कार्यक्रम को लेकर सतर्क है जिन वस्तुओं पर वैन है उसको किसी भी कीमत पर जनसभा में कोइे नही ले जा सकता है। काली टोपी पैंट व कपड़ा पहनकर कोई रैली में नही जा सकेगा। सुरक्षा के मद्देनजर शनिवार को रूट डायवर्जन रहेगा।

By- रणविजय सिंह

Ad Block is Banned