पॉक्सो एक्ट में कार्रवाई न करने पर थानेदार व चौकी इंचार्ज के खिलाफ दर्ज होगा प्रकीर्ण वाद

-मामले में सुनवाई के बाद पोक्सो कोर्ट ने बुधवार को दिया आदेश

By: Ranvijay Singh

Published: 15 Sep 2021, 09:30 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करने के बजाय सुलह का दबाव बनाना थानाध्यक्ष गंभीरपुर व चौकी प्रभारी गम्भीरपुर को भारी पड़ा। पोक्सो कोर्ट ने बुधवार को थाना प्रभारी गंभीरपुर व चौकी इंचार्ज गम्भीरपुर के विरुद्ध पॉक्सो एक्ट के तहत प्रकीर्ण मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है। अदालत ने थाना प्रभारी व उप निरीक्षक को अपना पक्ष रखने के लिए 25 सितंबर की तिथि नियत की है।

इस मामले में पीड़ित ने पॉक्सो कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया था कि 13 जून 2021 की रात आठ बजे उसकी 15 वर्षीय नाबालिग पुत्री शौच के लिए गयी थी। तभी उसके गांव के विपिन पुत्र ईश्वर, बबलू पुत्र शंकर, मनोज पुत्र बाबूलाल तथा दो अन्य लोग उसकी नाबालिग पुत्री को जबरदस्ती उठा ले गए और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

जब आरोपी पीड़िता को कहीं बाहर ले जाने की फिराक में थे तब शाहगंज जिला जौनपुर के रोडवेज पर डायल-112 पुलिस के हत्थे चढ़ गए। पुलिस ने पीड़िता के पिता को बुलाकर उसे सौंप दिया। जब पीड़िता के पिता ने पुलिस चौकी गंभीरपुर पर इस घटना की सूचना दी तो चौकी इंचार्ज गंभीरपुर सतीश यादव ने आरोपी और पीड़ित के घर वालों को बुलाया और सुलह समझौता दबाव बनाने लगे। उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की।

इसके बाद पुलिस की उदासीनता का लाभ लेकर आरोपियों ने पीड़ित के दरवाजे पर चढ़कर 3 अगस्त 2021 की रात ईट-पत्थर से हमला कर दिया। न्यायालय ने मामले में तथ्यों एवं परिस्थितियों को देखते हुए थाना प्रभारी गंभीरपुर को प्रकरण में आरोपियों के विरुद्ध दुष्कर्म व पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया। वहीं अदालत ने यह भी पाया कि इस पूरे प्रकरण में पुलिस उपनिरीक्षक गंभीरपुर चौकी इंचार्ज तथा थाना प्रभारी गंभीरपुर को पूरे प्रकरण की जानकारी थी। इसके बावजूद उन लोगों ने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की बल्कि सुलह का ही प्रयास कराया ।जबकि पॉक्सो एक्ट बाध्य करता है कि अगर कोई शिकायत लेकर थाने पर आता है तो उसकी शिकायत दर्ज की जाए और आवश्यक कार्रवाई की जाए।

अदालत ने गंभीरपुर थाना प्रभारी तथा चौकी प्रभारी को न्यायालय में अपना पक्ष रखने का आदेश दिया लेकिन उन लोगों की तरफ से समुचित जवाब नहीं दिया गया। पोक्सो कोर्ट के जज रवीश कुमार अत्री ने बुधवार को थानाध्यक्ष गंभीरपुर तथा उपनिरीक्षक सतीश कुमार के विरुद्ध पोक्सो एक्ट के तहत प्रकीर्ण वाद दर्ज करने का आदेश दिया और 25 सितंबर तिथि नियत कर दी।

Ranvijay Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned