किशोरी के गायब होने के दो दिन के भीतर ही पेड़ से लटकता मिला किशोर का शव

पड़ोसी युवक ने हत्यारोपियों पर लगाया गंभीर आरोप, बोला राज छिपाने के लिए साजिश के तहत की गयी अनूप की हत्या

आजमगढ़. महराजगंज थाना क्षेत्र के नौबरार देवारा जदीद किता दोयम नई बस्ती में किशोर की हत्या के पीछे बड़ा रहस्य छिपा है। परिजनों ने भले ही मोबाइल पर बात के विवाद को हत्या का कारण बताते हुए दो लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी हो लेकिन गांव वाले पूरे मामले को रहस्यमयी मान रहे हैं। कारण कि इस मामले में जिसे हत्यारोपी बताया गया है उसके घर की एक किशोरी दो दिन से गायब है लेकिन परिवार के लोगों ने गुमशुदगी भी नहीं दर्ज करायी है।

किशोरी के गायब होन के दो दिन के भीतर ही किशोर का शव पेड़ से लटकता पाया गया और उसके शरीर पर चोट के गंभीर निशान भी पाए गए। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस भी घटना को किशोरी के गायब होने से जोड़कर देख रही है लेकिन थानाध्यक्ष का कहना है कि जब तक उसकी बरामदगी नहीं होती कुछ भी कह पाना संभव नहीं है।

महराजगंज थाना क्षेत्र के नौबरार देवारा जदीद किता दोयम नई बस्ती में रविवार की सुबह 16 वर्षीय अनूप कुमार पुत्र रामनयन राम का शव घर से पांच सौ मीटर की दूरी पर नीम के पेड़ से लटकता पाया गया। शव नीचे उतारने के बाद शरीर पर गहरे चोट का निशान पाया गया। मृतक की मां ने इस ममाले में पड़ोस के ही दो लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करायी है। अनूप की मां रीता देवी के मुताबिक पेड़ के पास स्टूल अथवा सीढ़ी नहीं थी इससे साफ है कि उसकी हत्या की गयी है।

मृतक के मां का आरोप है कि 7 नवंबर 2019 की रात करीब 10 बजे पड़ोस का राजू उनके घर पर मोबाइल से बात कर रहा था। अनूप ने मना किया तो अपने भाई के साथ मिलकर हमला कर दिया। अनूप ने किसी तरह घर में भागकर जान बचाई। दो दिन बाद उन्होंने उसके बेटे की हत्या कर शव को पेड़ से लटकाकर आत्महत्या दर्शाने का प्रयास किया।

पुलिस मामला दर्ज कर जांच में जुटी है लेकिन ग्रामीण कुछ और ही कहानी बता रहे है। पड़ोस के प्रमोद यादव का कहना है कि घटना के पीछे बड़ा रहस्य छिपा है। दो दिन पूर्व आरोपी अपनी भतीजी को मारपीट रहा था उसी समय अनूप वहां पहुंचकर मारने से मना किया था। उसी रात से किशोरी गायब है। आरोपियों को डर था कि कहीं उनका राज अनूप खोल न दे इसलिए उसकी हत्या कर कर दी गयी। पुलिस सही से जांच करे तो बड़ा मामला सामने आयेगा।

वहीं थानाध्यक्ष का कहना है कि प्रथम दृष्टया यह प्रेम प्रपंच का मामला लग रहा है। किशोरी घर पर नहीं है और ना ही परिवार के लोग अब तक शिकायत ही दर्ज कराए है। ऐसे में जब तक किशोरी का पता नहीं चलता कुछ कह पाना मुश्किल है। रहा किशोर की हत्या का मामला तो पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ स्पष्ट हो पाएगा।

Ashish Shukla
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned