गरीबी से तंग आकर गर्भवती पत्नी ने पति के साथ की खुदकुशी, मौत से पहले किया था यह काम

अचानक हुई इस घटना ने परिवार को झकझोर कर रख दिया है, इस घटना को लेकर कई सवाल भी खड़े हो रहे हैं।

By: Akhilesh Tripathi

Published: 11 Dec 2017, 06:30 PM IST

आजमगढ़. गरीबी और आर्थिक तंगी से तंग आकर यूपी में एक दंपति की मौत की खबर सामने आई है। महिला नौ महीने के गर्भ से थी, दस दिन में महिला का प्रसव होना था। अचानक हुई इस घटना ने परिवार को झकझोर कर रख दिया है। घटना के दिन रात में दंपति ने परिवार के साथ चिकेन खाया था। इस घटना को लेकर कई सवाल भी खड़े हो रहे हैं।

 

रौनापार थाना क्षेत्र के जोकहरा गांव में एक सनसनीखेज वारदात सामने आयी है। यहां एक दंपति ने पहले परिवार के साथ हंसी खुशी मीट का सेवन किया और कुछ देर बार ही जहरीला पदार्थ निगल लिया। हालत गंभीर होने पर परिवार के लोग उन्हें जिला अस्पताल ला रहे थे कि युवक की रास्ते में ही मौत हो गयी, जबकि महिला को अस्पताल में चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस घटना को संदिग्ध मान जांच में जुटी है वहीं एक साथ तीन लोगों की मौत से परिवार में कोहराम मचा है। मृतक आर्थिक रूप से काफी कमजोर था। चर्चा है कि गरीबी भी आत्महत्या का कारण हो सकती है।

 

रौनापार थाना क्षेत्र के जोकहरा गांव के राजभर बस्ती में निवासी भोला राजभर 23 पुत्र स्व. रामबृक्ष राजभर मेहनत मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करता था। उसकी पत्नी हिना 20 नौ माह के गर्भ से थी। रविवार की शाम भोला बाजार से मीट लाया और राम में पूरे परिवार ने एक साथ बैठकर भोजन किया। भोजन के बाद भोला की बड़ी भाभी अनिता व देवर रामलखन ऊपरी तल पर सोने चले गए । मां फूलमती देवी बरामदे में सो गई। भोला और उसकी पत्नी हिना कमरे में सोने चले गये। रात 11 बजे एकाएक भोला और हिना की तबियत बिगड़ गई। इसके बाद परिवार के लोग निजी वाहन से दोनों को लेकर जिला अस्पताल के लिए रवाना हुए। अभी वे रास्ते में ही थे कि भोला की मौत हो गयी। वहीं जिला अस्पताल पहुंचने पर चिकित्सकों ने हिना को भी मृत घोषित कर दिया। इसके बाद परिजन शव लेकर घर चले आये। सोमवार की सुबह घटना की जानकारी होने पर एसओ रौनापार राकेश सिंह, सीओ सगड़ी सुधाकर सिंह, नायब तहसीलदार सगड़ी आदि मौके पर पहुंचे और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

 

मृतक चार भाइयों में दूसरे नंबर पर था। परिवार की हालत भी ठीक-ठाक थी। मृतक भोला गांव में ही मेहनत मजदूरी करता था। बड़ा भाई धर्मेन्द्र 25 और छोटा भाई रवि 20 बाहर नौकरी करते हैं। छोटा भाई रामलखन 15 वर्ष घर पर था।परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।अधिकारी मौत के कारणों की तलाश में जुटे हुए है।

 

BY- RANVIJAY SINGH

Show More
Akhilesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned