बड़ी राहतः रेलवे मुंबई के लिए संचालित करेगी दो जोड़ी स्पेशल ट्रेन

गोदान के समय पर होगा दोनों ट्रेनों का संचालन

आम आदमी को मिलेगी राहत, रेलवे की आय में होगी वृद्धि

आजमगढ़। आखिरकार इंतजार खत्म हुआ। आम आदमी की समस्या को देखते हुए सरकार ने मुंबई के लिए ट्रेन चलाने को हरी झंडी दे दी है। 17 सितंबर से मुंबई के लिए ट्रेन के संचालन शुरू होगा। यह ट्रेन सप्ताह में तीन दिन गोरखपुर व तीन दिन छपरा से चलकर आजमगढ़ होते हुए मुंबई को जाएगी। यह ट्रेन पूर्व में संचालित गोदान एक्सप्रेस के निर्धारित समय से ही चलेगी। समय में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है।
बता दें कि कोरोना संक्रमण के चलते हुए लाक डाउन के बाद टेªनों को संचालन रोक दिया गया था। लाक डाउन के दौरान लोग किसी तरह महानगरों घर तो आ गए लेकिन अब लाक डाउन खुलने के बाद लोगों को महानगर वापसी में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।
खासतौर पर आजमगढ़ व आसपास के जिलों के लोगों को। कारण कि यहां से मुंबई जाने के लिए एक भी ट्रेन संचालित नहीं हो रही है। आम आदमी की समस्या को देखते हुए रेलवे ने गोरखपुर व छपरा से चलने वाली गोदान एक्सप्रेस को स्पेशल ट्रेन बनाकर चलाने का फैसला किया है। हालांकि ट्रेन के संचालन में कोई बदलाव नहीं किया गया है। जिस समय पर गोदान चलती थी उसी समय से स्पेशल ट्रेन भी चलेगी। बिना रिजर्वेशन यात्रा करने की अनुमति नहीं होगी। ये ट्रेन पहले से जिले से होकर जाने वाली तीन जोड़ी स्पेशल ट्रेनों के अलावा होगी।
मंडल वाणिज्य निरीक्षक अखिलेश सिंह ने बताया कि आजमगढ़-मुंबई के लिए ट्रेन चलाने की मांग अधिक थी। यहां से मुंबई जाने वाले यात्रियों की भी संख्या ज्यादा होती है। यात्रियों को सहूलियत देने के लिए गोदान एक्सप्रेस ट्रेन के निर्धारित समय पर ही स्पेशल ट्रेन का संचालन किया जाएगा। इससे यात्रियों को काफी राहत मिलेगी साथ ही रेलवे की आय में भी वृद्धि होगी।

स्पेशल ट्रेन का शेड्युल --
- 17 सितंबर 01059 एलटीटी छपरा मंगलवार, बृहस्पतिवार, शनिवार
-19 सितंबर 01060 छपरा एलटीटी बृहस्पतिवार, शनिवार, सोमवार
-18 सितंबर 01055 एलटीटी गोरखुपर सोमवार, बुधवार, शुक्रवार, रविवार
-20 सितंबर 01056 गोरखुपर एलटीटी बुधवार, शुक्रवार, रविवार, बृहस्पतिवार

BY Ran vijay singh

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned