scriptRajbhar vote will decider Purvanchal in Lok Sabha elections 2024 big challenge in political parties meditation for voters | पूर्वांचल के आठ प्रतिशत राजभर मतों को साधना राजनीतिक दलों के लिए बड़ी चुनौती, सबने मैदान में उतारे महारथी | Patrika News

पूर्वांचल के आठ प्रतिशत राजभर मतों को साधना राजनीतिक दलों के लिए बड़ी चुनौती, सबने मैदान में उतारे महारथी

एक तरफ जहां पूर्वांचल के आठ प्रतिशत राजभर मतों पर सुभासपा प्रमुख ओमप्रकाश राजभर सीधा दावा कर रहे हैं तो दूसरी तरफ चुनाव में राजभर मतों की निर्णायक भूमिका को देखते हुए राजनीतिक दल बेचैन है। चुंकि राजभर वोटर्स लोकसभा चुनाव 2024 में पूर्वांचल में सीधा प्रभाव डालेगे इसे देखते हुए राजनीतिक दल इन्हें साधने के लिए पार्टी के बड़े नेताओं को मैदान में उतार दिये हैं।

आजमगढ़

Published: July 28, 2022 01:09:50 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. लोकसभा चुनाव में अभी डेढ़ साल का समय है लेकिन राजनीतिक दलों ने तैयारियां शुरू कर दी है। पूर्वांचल में राजनीतिक दलों के लिए आठ प्रतिशत राजभर मतदाताओं को साधना बड़ी चुनौती बन गयी है। एक तरफ ओमप्रकाश राजभर खुद को राजभरों का चेहरा साबित करने की कोशिश कर रहे हैं तो दूसरी तरफ गठबंधन कर रार ने सपा के साथ उनकी भी मुश्किल बढ़ा दी है। कारण कि बिना गठबंधन के उनके लिए चुनाव में खाता खोलना मुश्किल होगा तो दूसरी तरफ विधानसभा चुनाव 2022 में पूर्वांचल में मिली हार के बाद बीजेपी सतर्क हो गयी है। वह किसी भी हालत में राजभर मतों को अपने पाले में करने की कोशिश में जुटी है। बसपा और कांग्रेस का भी पूरा फोकश इन्हीं पर दिख रहा है। यही वजह है कि सभी दलों ने राजभर नेताओं को मैदान में उतार दिया है।

प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटो

गौर करें तो सपा-सुभासपा में सियासी तलाक हो चुका है। वहीं बसपा ने भी कहीं न कही यह संकेत दे दिया है कि अभी उसे ओमप्रकाश की जरूरत नहीं है। एनडीए से भी अभी ओमप्रकाश के में रुचि नहीं दिखया है। ऐसे में हालात और भी दिलचस्प हो गए हैं। कारण कि वर्ष 2019 के चुनाव में ओमप्रकाश राजभर की पार्टी अकेले दम पर मैदान में उतरी थी लेकिन उसके प्रत्याशी जमानत नहीं बचा पाए थे लेकिन जब 2022 में वे सपा के साथ मिलकर लड़े तो बीजेपी को बड़ा झटका दिया। गाजीपुर सहित कई जिलों में बीजेपी का खाता नहीं खुला। लोकसभा उपचुनाव में ओमप्रकाश सपा के साथ थे इसके बाद भी बीजेपी राजभर बाहुल्य सीटों पर सपा से अधिक वोट हासिल करने में सफल रही। ऐसे में बीजेपी का हौसला बढ़ा है।

डेढ़ साल बाद लोकसभा चुनाव होना है। ऐसे में ओमप्रकाश के वोट बैंक पर सबकी नजर है। बीजेपी ने तो पूर्वांचल में राजभर नेताओं की पूरी फौज उतार दी है। कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर के अलावा पूर्व विधायक विजय राजभर, वरिष्ठ नेता राम सूरत राजभर, पूर्व सांसद हरिनारायण राजभर सहित दर्जन भर नेताओं को आठ प्रतिशत राजभरों को साधने के लिए लगाया गया है। वहीं बसपा के प्रदेश अध्यक्ष भीम राजभर स्वयं मैदान में हैं तो सपा भी बड़ा दाव खलने के मूड में दिख रही है। पार्टी पूर्व मंत्री डा. रामदुलार को राजभर मतोें को साधने के लिए न केवल आगे किया है बल्कि माना जा रहा है कि उन्हें आजमगढ़ का जिलाध्यक्ष भी बनाया जा सकता है। ऐसे में हालात दिलचस्प हो गए हैं। देखना दिलचस्प होगा कि किसका दाव सफल होता है और कौन सा दल आठ प्रतिशत राजभर मतों को साधने में सफल होता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

श्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी को लगी गोली, जवान भी घायल38 साल बाद शहीद लांसनायक चंद्रशेखर का मिला शव, सियाचिन ग्लेशियर की बर्फ में दबकर हो गए थे शहीदराष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का देश के नाम संबोधन, कहा - '2047 तक हम अपने स्वाधीनता सेनानियों के सपनों को पूरी तरह साकार कर लेंगे'पंजाब में शुरु हुई सेहत क्रांति की शुरुआत, 75 'आम आदमी क्लीनिक' बन कर तैयार, देश के 75वें वर्षगांठ पर हो जाएंगे जनता को समर्पितMaharashtra: सीएम शिंदे की ‘मिनी’ टीम में हुआ विभागों का बंटवारा, फडणवीस को मिला गृह और वित्त, जानें किसे मिली क्या जिम्मेदारीलाखों खर्च कर गुजराती युवक ने तिरंगे के रंग में रंगी कार, PM मोदी व अमित शाह से मिलने की इच्छा लिए पहुंचा दिल्लीशेयर मार्केट के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला की मौत ऐसे हुई, डॉक्टर ने बताई वजहBJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.